scriptनाबालिग के यौन उत्पीड़न मामले में बीएस येडियूरप्पा को चौथी बार पूछताछ के लिए मिला नोटिस | Notice to Yeddyurappa in sexual harassment case of minor | Patrika News
बैंगलोर

नाबालिग के यौन उत्पीड़न मामले में बीएस येडियूरप्पा को चौथी बार पूछताछ के लिए मिला नोटिस

येडियूरप्पा पर यौन उत्पीडऩ के लिए पोक्सो अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की धारा 354-ए के तहत आरोप लगाए गए हैं। येडियूरप्पा ने अपने वकीलों के माध्यम से दिल्ली में अपनी वर्तमान उपस्थिति का हवाला देते हुए सीआइडी के समक्ष उपस्थित होने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा है। इससे पहले से येडियूरप्पा से तीन बार पूछताछ की जा चुकी है।

बैंगलोरJun 13, 2024 / 12:00 am

Sanjay Kumar Kareer

yediyurappa-notice

पूर्व सीएम ने मांगा एक सप्ताह का समय

बेंगलूरु. अपराध अनुसंधान विभाग (सीआइडी) ने पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता बीएस येडियूरप्पा को नोटिस जारी कर उन्हें पोक्सो एक्ट (यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण) के तहत दर्ज एक मामले के संबंध में पूछताछ के लिए उपस्थित होने को कहा है।
इस साल की शुरुआत में दर्ज किए गए मामले में आरोप लगाया गया है कि येडियूरप्पा ने एक नाबालिग का यौन उत्पीडऩ किया। लडक़ी की मां ने शिकायत दर्ज कराई थी, जिन्होंने दावा किया था कि यह घटना 2 फरवरी को हुई थी, जब वे धोखाधड़ी के एक मामले में सहायता लेने वरिष्ठ भाजपा नेता से मिलने गए थे।
येडियूरप्पा पर यौन उत्पीडऩ के लिए पोक्सो अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की धारा 354-ए के तहत आरोप लगाए गए हैं। येडियूरप्पा ने अपने वकीलों के माध्यम से दिल्ली में अपनी वर्तमान उपस्थिति का हवाला देते हुए सीआइडी के समक्ष उपस्थित होने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा है। इससे पहले से येडियूरप्पा से तीन बार पूछताछ की जा चुकी है।
यह मामला मूल रूप से सदाशिवनगर पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था, लेकिन बाद में आगे की जांच के लिए इसे सीआईडी को सौंप दिया गया। येडियूरप्पा ने आरोपों से इनकार करते हुए उन्हें निराधार बताया है।

पीडि़त परिवार, येडियूरप्पा ने की हाई कोर्ट में अपील

इस बीच, पीडि़त परिवार और येडियूरप्पा ने कर्नाटक उच्च न्यायालय में अलग-अलग याचिका दायर की है। येडियूरप्पा ने अपने खिलाफ दर्ज मामले को रद्द करने की मांग की है तो पीडि़त परिवार ने इस मामले में येडियूरप्पा की गिरफ्तारी की मांग की है। पीडि़ता के भाई ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर दावा किया कि पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है, जबकि वरिष्ठ भाजपा नेता के खिलाफ शिकायत दर्ज किए महीनों बीत चुके हैं। पीडि़ता की मां ने इस साल मार्च में येडियूरप्पा के खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कराया था। बाद में उनका 26 मई को निधन हो गया।
याचिकाकर्ता ने दावा किया कि येडियूरप्पा के आवास से सीसीटीवी फुटेज जब्त नहीं की गई, और न ही धारा 41ए के तहत नोटिस दिया गया, जो पोक्सो के मामले में एक बुनियादी कदम है। इससे पहले, येडियूरप्पा ने अपने खिलाफ दर्ज पोक्सो मामले को रद्द करने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उन्होंने अपनी याचिका में कहा कि वेे किसी भी गैरकानूनी काम में संलिप्त नहीं रहे हैं। येडियूरप्पा ने दावा किया कि एफआईआर दर्ज होने के बाद वे पूछताछ में शामिल हुए। पुलिस ने आवाज के नमूने एकत्र किए थे, लेकिन उनका बयान दर्ज नहीं किया। इस मामले पर टिप्पणी करते हुए गृह मंत्री जी. परमेश्वर ने बुधवार को कहा कि जांच जारी है और पुलिस और सबूत जुटा रही है।

Hindi News/ Bangalore / नाबालिग के यौन उत्पीड़न मामले में बीएस येडियूरप्पा को चौथी बार पूछताछ के लिए मिला नोटिस

ट्रेंडिंग वीडियो