अब एक फोन कॉल पर होगा जनसमस्याओं का समाधान

केंद्रीकृत कॉल सेंटर स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू

By: Rajendra Vyas

Updated: 18 Dec 2018, 01:14 AM IST

बीबीएमपी मुख्यालय में शिकायत निवारण के लिए कॉल सेंटर अगले महीने से
बेंगलूरु. पानी, बिजली, सड़क, सफाई, स्ट्रीट लाइट आदि से संबंधित शिकायतों का निवारण अब मात्र एक फोन कॉल से संभव होगा। बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका ने नागरिकों को समयबद्ध सेवा प्रदान करने के लिए बीबीएमपी मुख्यालय एक केंद्रीकृत कॉल सेंटर स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू की है, जिसके अगले महीने से काम करने की संभावना है। यानी नए साल पर नागरिकों को नए किस्म की सुविधाएं मिलेंगी और बीबीएमपी उनकी शिकायतों का समयबद्ध समाधान सुनिश्चित करेगा।
पालिका अधिकारियों के अनुसार नागरिक सुविधाओं से संबंधित सेवाओं को केंद्रीकृत करने के लिए इस कॉल सेंटर की शुरुआत की जा रही है। नागरिकों की कई बार शिकायत रहती है कि संबंधित अधिकारियों को शिकायत करने के बाद उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पाता है, लेकिन कॉल सेंटर के शुरू होने के बाद इन शिकायतों को स्वत: निवारण हो जाएगा।
कॉल सेंटर एक साफ्टवेयर से जुड़ा होगा। नागरिकों से संबंधित शिकायतों को कॉल सेंटर कर्मी उस क्षेत्र से संबंधित अधिकारियों स्थानांतरित करेंगे, जिसमें कॉल रिकॉर्ड की सुविधा होगी। वहीं शिकायतकर्ता को एक संदर्भ संख्या भी जारी होगा जिससे उनके पास भी शिकायत का रिकॉर्ड रहेगा। इस प्रकार शिकायतों का पूरा विवरण पालिका के रिकॉर्ड में रहेगा और शिकायतों के समाधान किस स्तर पर पहुंचा उसे भी जांचा जा सकेगा। आरंभ में इस कॉल सेंटर में पालिका से संबंधित सेवाओं का समाधान होगा, जिसे अगले छह महीनों में बीडब्ल्यूएसएसबी, बेसकॉम, मेट्रो, बीडीए आदि की सेवाओं में विस्तारित करने की योजना है।
5.6 करोड़ में शुरू होगा कॉल सेंटर
कॉल सेंटर परियोजना की लागत 5.6 करोड़ रुपए है। इसमें 36 कर्मियों के के बैठने के लिए कुर्सियां और सीसीटीवी कैमरे आदि लगाए जा चुके हैं। हालांकि तीन वर्ष के लिए श्रम संसाधन प्रदान करने का अनुबंध किसे प्रदान किया जाएगा, इसे अब तक अंतिम रूप नहीं दिया गया है। इसी प्रकार सॉफ्टवेयर को भी अंतिम रूप देना शेष है। हालंाकि उम्मीद है जनवरी 2019 तक पूरा काम कर लिया जाएगा और अगले महीने से कॉल सेंटर काम करने लगेगा।
दो वर्ष पूर्व हुई थी परिकल्पना
नागरिक शिकायतों को केंद्रीकृत करने के लिए पूर्व महापौर मंजुनाथ रेड्डी के समय ही बीबीएमपी ने चौबीसों घंटे काम करने वाली केंद्रीकृत कॉल सेंटर स्थापित करने की योजना को मंजूरी दी थी। यहां तक कि पिछले वर्ष ही पालिका मुख्यालय में इसके लिए जरुरी निर्माण कार्य भी पूरा कर लिया गया, लेकिन बाद में विधानसभा चुनाव सहित विविध कारणों से इसे आरंभ करने में देरी हुई।

Rajendra Vyas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned