अब चौबीस घंटे में मिलेगी कोरोना RT-PCR जांच रिपोर्ट

  • उच्च न्यायालय के निर्देश पर सरकार ने जारी किए आदेश
  • अभी तीन से चार दिन तक नहीं मिल रही रिपोर्ट

By: Jeevendra Jha

Published: 22 Apr 2021, 02:45 AM IST

बेंगलूरु. राज्य और शहर में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने बुधवार को प्रयोगशालाओं को 24घंटे के अंदर कोरोना (आरटी-पीसीआर) जांच रिपोर्ट जारी करने के आदेश दिए। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने भी सरकार को 24 घंटे में जांच रिपोर्ट देने के आदेश दिए थे। नियमों के मुताबिक रिपोर्ट पहले भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के पोर्टल की जाती है।

अब चौबीस घंटे में मिलेगी कोरोना RT-PCR जांच रिपोर्ट

अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) जावेद अख्तर ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी किए। आदेश में शनिवार को कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण 24 घंटे में जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने के लिए दिए गए अदालत के आदेश का भी जिक्र है। नए मामलों में वृद्धि के साथ जांच रिपोर्ट मिलने में देरी की शिकायतें भी बढ़ी हैं। आरटी-पीसीआर जांच के लिए नमूने देने के तीन से चार दिन भी रिपोर्ट नहीं मिलने की शिकायतें बढ़ रही हैं।

RT PCR 24hrs order KTK
जिन लोगों को भी सर्दी-जुकाम, कफ या बुखार जैसे लक्षण हैं, उन्हें कोरोना जांच करानी चाहिए

उपमुख्यमंत्री नारायण ने भी दिए निर्देश
इस बीच, बुधवार को उपमुख्यमंत्री डॉ सीएन अश्वथ नारायण ने शहर के कई अस्पतालों और प्रयोगशालाओं का दौरा किया। बाद में नारायण ने प्रयोगशालाओं को नमूना संग्रहित किए जाने के 24 घंटे में कोरोना जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। नारायण ने मल्लेश्वरम के केसी जनरल अस्पताल, राजाजीनगर के इएसआइ अस्पताल, विक्टोरिया और किदवई अस्पताल के साथ ही कोरोना जांच करने वाले एक निजी लैब का भी दौरा किया और वहां की व्यस्थाओं का जायजा लिया। मंत्री ने अस्पतालों को दिन में तीन बार प्रयोगशालाओं को नमूने जांच के लिए भेजने के लिए निर्देश दिए। साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों को हालात पर निरंतर नजर रखने और 24 घंटे में जांच रिपोर्ट देना सुनिश्चित करने के लिए कहा। नारायण ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि संक्रमित पाए गए व्यक्ति को 24 घंटे के अंदर उपचार उपलब्ध होना चाहिए ताकि मौतों की संख्या को कम की जा सके। नारायण ने कहा कि केसी जनरल अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। कोरोना जांच किट भी अब अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

अस्पताल अधीक्षक डॉ वेंकटेशय्या ने उपमुख्यमंत्री को बताया कि दिन में पांच से छह बार संग्रहित नमूने में प्रयोगशालाओं में जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। अस्पताल के पास 8 हजार लीटर दैनिक ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है और रोजाना करीब 8 हजार लीटर का उपयोग हो रहा है। नारायण ने कहा कि केसी जनरल अस्पताल के 450 में से 180 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं। अस्पताल में 100 बिस्तर और बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। अस्पताल के पास 120 वेंटिलेटर हैं।

अब चौबीस घंटे में मिलेगी कोरोना RT-PCR जांच रिपोर्टअब चौबीस घंटे में मिलेगी कोरोना RT-PCR जांच रिपोर्ट

इएसआइ अस्पताल के 420 में से 120 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित हैं और यहां 60 और बिस्तर बढ़ाने की कोशिश चल रही है। नारायण ने जांच के लिए जरुरी मशीन और तकनीकी कर्मचारी उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया। पेशे से चिकित्सक नारायण ने कहा कि जिन लोगों को भी सर्दी-जुकाम, कफ या बुखार जैसे लक्षण हैं, उन्हें एहतियाती तौर पर कोरोना जांच करानी चाहिए। इसमें देरी भारी पड़ सकती है।

Jeevendra Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned