अब आपकी मुट्ठी में होगी बिजली गुल होने की जानकारी

अब आपके इलाके में किस दिन बिजली की आपूर्ति नहीं होगी या किस वक्त बिजली गुल होगी इस बारे में एक दिन पूर्व ही उपभोक्ता को उसके मोबाइल नंबर पर मैसेज मिल जाएगा।


फैज मुंशी
धारवाड़. अब आपके इलाके में किस दिन बिजली की आपूर्ति नहीं होगी या किस वक्त बिजली गुल होगी इस बारे में एक दिन पूर्व ही उपभोक्ता को उसके मोबाइल नंबर पर मैसेज मिल जाएगा। विद्युत उपभोक्ताओं की इस समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र सरकार ने ऊर्जा मित्र एप शुरू किया है। हेस्कॉम भी इसके दायरे में है। इससे लोगों को आसानी से बिजली कटौती के संबंध में जानकारी उपलब्ध होगी।


विद्युत उपभोक्ता की ओर से घर का पता, बिजली के मीटर का आरआर संख्या तथा मोबाइल नंबर हेस्कॉम के किसी भी कार्यालय में पंजीयन करवाने पर इस बारे में एक दिन पहले ही फीड की गई जानकारी मिल जाएगी। फिलहाल शहरी क्षेत्र में अंग्रेजी में तथा ग्रामीण इलाकों में कन्नड़ में मैसेज पहुंचाया जा रहा है। विद्युत बिल बकाया होने पर उसकी सूचना भी मोबाइल फोन पर मिल जाएगी।


समय बदलने की भी मिलेगी सूचना
आरईसी (रूरल इलेक्ट्रीफिकेशन कार्पोरेशन) ने एप कार्य निर्वाह की जिम्मेदारी ली है। पहले बताए गए बिजली कटौती के समय में कुछ भी फर्क होने पर उसकी सूचना भी मोबाइल फोन पर आ जाएगी।


किराएदारों को भी सूचना मिलेगी
किराए का मकान बदलकर दूसरे इलाके में जाने पर उसकी जानकारी हेस्कॉम को देनी चाहिए। किराए के मकान में रहने वालों का नाम तथा मोबाइल फोन नंबर मकान मालिक देंगे तो सीधे किराएदार के फोन पर सूचना पहुंच जाएगी।


विविध जिलों में सुविधा
हेस्कॉम के दायरे में आने वाले धारवाड़, गदग, विजयपुर, बागलकोट, उत्तर कन्नड़, हावेरी तथा बेलगावी जिलों के लोगों को यह सुविधा उपलब्ध कर दी गई है। हेस्कॉम के अनुसार इस सुविधा को और तेजी से जनता तक पहुंचाने का लक्ष्य है।


नए मकान बनाने वालों का आवेदन
नया मकान का निर्माण करने वाले विद्युत संपर्क के लिए आवेदन सौंपने के दौरान ही बिजली कटौती संबंधित सूचना हासिल करने की सुविधा ली जा रही है। हेस्कॉम उपभोक्ता स्वपे्ररणा से अपना मोबाइल नंबर देने पर या किराएदार की जानकारी देंगे तो भी आसानी होगी। फोन नंबर बदलने पर भी इसकी जानकारी हेस्कॉम को देना चाहिए। इस योजना के दायरे में नए उपभोक्ताओं को शामिल करना तथा फोन संख्या बदलना आदि प्रक्रिया निरंतर चलती रहती है। इसके लिए पृथक दल गठित किया गया है।

इनका कहना है
बिजली कटौती की सूचना एक दिन पहले देंगे तो योजना तैयार करने के लिए लोगों को आसानी होगी। मकान मालिक किराएदारों की जानकारी देंगे तो अधिक लोगों को फायदा मिलेगा। किराएदारों की जानकारी देने के लिए सभी मकान मालिकों को बताया गया है। ग्रामीण क्षेत्र में भी इस बारे में जागरूकता पैदा की जा रही है।
बी.टी, प्रकाश कुमार, हेस्कॉम निदेशक (तकनीकी)

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned