सूखा राहत के मसले पर मुख्य सचिव ने कसे प्रशासनिक पेंच

सूखा राहत के मसले पर मुख्य सचिव ने कसे प्रशासनिक पेंच

Shankar Sharma | Publish: Jun, 26 2019 12:01:26 AM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

राज्य के मुख्य सचिव टीएम विजय भास्कर ने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों को सूखा राहत कार्य युद्ध स्तर पर चलाने और मानसून में बारिश की संभावित कमी से होने वाली चुनौतियों का सामना करने को प्रशासनिक स्तर पर तैयार रहनेे के निर्देश दिए हैं।


बेंगलूरु. राज्य के मुख्य सचिव टीएम विजय भास्कर ने प्रदेश के सभी जिलों के जिलाधिकारियों को सूखा राहत कार्य युद्ध स्तर पर चलाने और मानसून में बारिश की संभावित कमी से होने वाली चुनौतियों का सामना करने को प्रशासनिक स्तर पर तैयार रहनेे के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जून के अंत में तथा जुलाई व उसके बाद के महीनों में बारिश ज्यादा होने पर बाढ़ के लिहाज से संवेदनशील इलाकों में तत्काल ऐहतियाती कार्य पूरे करने को भी कहा।


मुख्य सचिव सोमवार को यहां विधानसौधा में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जिलाधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के निर्देश पर बैठक बुलाई। मुख्यमंत्री ने सूखे के हालात से निपटने का जिम्मा मुख्य सचिव को सौंपा है।


विजय भास्कर ने कहा कि जारी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना चाहिए और प्रशासनिक मशीनरी को बाढ़ या अन्य प्राकृतिक आपदाओं की चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार रखा जाना चाहिए। दक्षिण-पश्चिम मानसून ने राज्य में प्रवेश कर लिया है और कुछ इलाकों में अच्छी बारिश हो रही है।


उन्होंने जोर देकर कहा कि सूखा राहत कार्य को कार्यक्रम नहीं माना जाना चाहिए। लोगों से मिलकर उनकी समस्या बिना समय गंवाए हल की जाएं। मुख्यमंत्री ग्राम रात्रि विश्राम कार्यक्रम के तहत लोगों के पास जाकर सीधे उनकी समस्याओं की सुनवाई कर रहे हैं। ठीक इसी तरह अधिकारी भी गांवों में जाकर लोगों से मिलें और पेयजल, पशुचारे के अभाव की समस्याएं सुलझाएं। ताकि लोगों को अपने समाधान के लिए मुख्यमंत्री के दौरे की प्रतीक्षा करने की जरूरत ही नहीं पड़े।

तेज बहाव में बस सहित ३ वाहन बहे
बल्लारी. बल्लारी जिले के कई स्थानों पर रविवार शाम को बादल जमकर बरसे। वहीं, पड़ोसी राज्य आंध्रप्रदेश में हुई तेज बारिश के कारण बल्लारी जिले के सिरुगुप्पा तालुक के रारावी के निकट बहने वाली वेदावती नदी उफान पर है। नदी पर बने पुल को पार करते समय सोमवार सुबह एक निजी बस व दो लारी पानी के तेज बहाव के साथ ही नदी की ओर बहने लगे। हालांकि तीनों वाहन कुछ ही दूरी तक बहकर पुल व नदी के किनारे अटक गए और बस में सवार सभी यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया। अन्य वाहनों में भी सवार लोग सुरक्षित हैं। आंध्रप्रदेश के आदोनी, तालुका के गेज्जेल्ली, आलूरु, होलगुंदी सहित कई जगहों पर रविवार रात तेज बारिश हुई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned