एक वेंटलेटर पर सांस ले सकेंगे दो मरीज

- स्प्लिटर बढ़ाएगा वेंटिलेटर की क्षमता

By: Nikhil Kumar

Published: 01 Apr 2020, 11:51 AM IST

बेंगलूरु. कोविड-19 (Covid-19) के गंभीर मरीजों के उपचार में वेंटिलेटर (Ventilator) की भूमिका सबसे अहम है। मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए पूरी दुनियां वेंटिलेटर के इंतजाम में लगी है। ऐसे में चिकित्सकों ने नई तकनीक के इस्तमाल की वकालत की है। जिसमें एक वेंटिलेटर दो मरीज के काम आ सकता है।

एक वेंटिलेटर पर दो मरीजों को रखना संभव है। बशर्ते एक से दूसरे मरीज में सक्रमण नहीं फैले। एस्टर सी. एम. आइ. अस्पताल में यकृत रोग विशेषज्ञ व यकृत प्रत्यारोपण सर्जन डॉ. सोनल अस्थाना ने बताया कि 3 डी प्रिंटेड वेंटिलेटर स्प्लिटर एडप्टर ( 3D printed splitter for ventilator) के जरिए एक वेंटिलेटर पर एक मरीज को दी जाने वाली सुविधा, दो मरीजों को दी जा सकेगी। इस तकनीक में संक्रमण को रोकने की सुविधा भी मौजूद होगी ताकि एक से दूसरा मरीत संक्रमित न हो।

डॉ. अस्थाना के अनुसार स्प्लिटर एडप्टर उपकरण के जरिए एक वेंटिलेटर दो मरीजों को सांस लेने में मदद करता है। आने वाले समय में स्थिति और गंभीर होती है तो लोगों को बड़ी संख्या में वेंटिलेटर की जरूर पड़ेगी। ऐसे में स्प्लिटर एडप्टर उपकरण की मदद से काफी हद तक वेंटिलेटर की कमी से निपटा जा सकेगा।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned