सेवानिवत्त मुख्य अभियंता की सभी सुविधाएं रोकने का आदेश

  • समिति ने सिद्दे गौड़ा को दी गई पदोन्नति वापस लेने की सिफारिश की थी लेकिन बीबीएमपी ने उल्टा उन्हें पदोन्नति देकर मुख्य अभियंता बनाया था

By: Nikhil Kumar

Published: 10 Jun 2021, 07:37 PM IST

बेंगलूरु. शहरी विकास विभाग ने बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) को पत्र लिख कर सेवा निवृत्त मुख्य अभियंता सिद्दे गौड़ा की सभी सुविधाएं रोकने का आदेश जारी किया।

गौड़ा पर आरोप है कि उन्होंने गांंधी नगर उप संभाग में सहायक कार्यकारी अभियंता रहते समय निविदाएं आमंत्रित किए बगैर अवैध रूप से निर्माण कार्यों को अनुमति देकर भ्रष्टाचार किया था। शहरी विकास विभाग ने 31 मई को उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उसी दिन सिद्दे गौड़ा सेवा निवृत्त हुए थे। गांधी नगर, आरआर नगर और मल्लेश्वरम उप संभाग के निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार की जांच के लिए गठित न्यायाधीश एचएन नागमोहन दास के नेतृत्व वाली समिति ने भी सिद्दे गौड़ा के भ्रष्टाचार का पता लगाया था।

समिति ने सिद्दे गौड़ा को दी गई पदोन्नति वापस लेने की सिफारिश की थी लेकिन बीबीएमपी ने उल्टा उन्हें पदोन्नति देकर मुख्य अभियंता बनाया था। विजय नगर के सूचना का अधिकार अध्ययन केन्द्र के अधिकारी एस.अमरेश ने शहरी विकास विभाग से इसकी शिकायत की थी।

शहरी विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने पालिका को पत्र लिख कर सिद्दे गौड़ा को सेवा निवृत्ति के बाद मिली सभी सुविधाएं रोकने का आदेश दिया। विभाग ने सरकारी पेंशन विभाग को भी सिद्दे गौड़ा की पेंशन जारी नहीं करने का आदेश दिया।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned