खराब हालात से त्रस्त लोगों ने प्रशासन के खिलाफ ऐसे की आवाज बुलंद

हजारों की तादाद में एक साथ मिलकर निकाला मार्च, मानव शृंखला बनाई और बैनर पोस्टर दिखाए

बेंगलूरु. खराब सड़कें, यातायात जाम, प्रदूषण और अन्य नागरिक सुविधाओं की कमी से त्रस्त लोगों ने शनिवार को हजारों की संख्या में सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन किया।

करीब चार हजार लोगों ने शनिवार सुबह हरलूरु मेन पर करीब 3.5 किमी लंबी सड़क पर कब्जा कर लिया। वे हाथों में बैनर, झंडे लिए हुए थे। हरलूरु में सिल्वर काउंटी रोड, कुडलू, सोमसुंदरपालया, मंगमनपालया और एचएसआर लेआउट सेक्टर 2 के निवासियों ने ट्रैफिक जाम, खराब सड़कों और सुविधाओं की कमी के विरोध में लंबा मार्च निकाला, जिसमें बड़ों के साथ बच्चों सहित क्षेत्र के सभी लोगों ने भाग लिया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि यह इलाका महादेवपुरा, आनेकल और बोम्मनहल्ली विधानसभा क्षेत्रों में विभाजित हैं। इसलिए यहां की समस्याओं को लेकर किसी की कोई जवाबदेही नहीं है और यही सबसे बड़ी समस्या है। लोग कहते हैं कि आप एक नागरिक समस्या का नाम लीजिए, वह अपने सबसे खराब रूप में यहां मिलेगी। प्रदर्शनकारियों ने मार्च के बाद सरजापुर रोड पर एक मानव शृंखला भी बनाई।

असल में यह एक रोचक बेहद पीडि़त हो चुके त्रस्त लोगों का विरोध प्रदर्शन था। लगभग इन्हीं समस्याओं से जूझ रहे महादेवपुरा इलाके के लोगों ने भी हाल ही में बड़ा विरोध प्रदर्शन किया था जिसके बाद अधिकारियों को उनकी समस्याओं का निराकरण करने पर मजबूर होना पड़ा। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां रहना मानो एक दु:स्वप्न है। विशेष रूप से इस इलाके में रहने वाले बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो यह बेहद खराब है। सड़कों की जगह गडढे हैं, फुटपाथ हैं नहीं, जहां तहां खुले मैनहोल, सीवेज ओवरफ्लो और अनियंत्रित कचरे के अंबार लगे हुए हैं।

Sanjay Kumar Kareer
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned