scriptPeace is the inner consciousness of our mind - Sadhvi Bhavyagunashree | शांति हमारे मन की भीतरी चेतना-साध्वी भव्यगुणाश्री | Patrika News

शांति हमारे मन की भीतरी चेतना-साध्वी भव्यगुणाश्री

महालक्ष्मी लेआउट में तीन दिवसीय रत्नत्रयी महोत्सव शुरू

बैंगलोर

Published: March 04, 2022 07:53:32 am

बेंगलूरु. चिंतामणि पाश्र्वनाथ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ महालक्ष्मी लेआउट में विराजित साध्वी भव्यगुणाश्री व साध्वी शीतलगुणाश्री ने छठी ध्वजारोहण के शुभ अवसर पर रत्नत्रयी महोत्सव के अंतर्गत कहा कि हर कोई अपने जीवन मे शांति चाहता है। प्राय: हम शांंित को कोई बाहरी वस्तु समझ लेते हैं और उसे दूरस्थ स्थलों में ढूंढते हैं। जबकि शांति पूरी तरह से हमारे मन की भीतरी चेतना है। साध्वी भव्यगुणाश्री ने कहा कि सत्य यही है कि सभी दु:ख-दर्दों, कष्टों और कठिनाइयों के बीच भी शांत रहना ही वास्तव में शांति है। साध्वी शीतलगुणाश्री ने कहा कि धर्म केवल रास्ता दिखलाता है
लेकिन मंजिल तक तो कर्म ही पहुंचाता है। सब झगड़ों की जड़ होती है ईगो, यानी अकड़ हमारी, सब विवाद पर भारी है। मुंह से निकला छोटा सा शब्द सॉरी। मिच्छामि दुक्कडम। नरेश बंबोरी ने बताया कि साध्वी का सामैया सहित बाजते गाजते प्रवेश हुआ। काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रवचन का लाभ लिया। शुक्रवार को सुबह चिंतामणि पाश्र्वनाथ महापूजन आंगी भक्तिभावना होगा। इस अवसर पर विहार सेवा में गौतमचंद लूणिया, विजय कांकलिया, अमरचंद पोरवाल, विनोद भंसाली, विनोद बंबोरी, चेतनप्रकाश झारमूथा, राकेश दांतेवाडिय़ा, मनीष बंबोरी, पंकज गांधी, बाबूलाल गिलूंदिया, रोनक बंबोरी, आयुष बंबोरी, सुनील बंबोरी, कमलेश बंबोरी, राहुल बंबोरी, निलेश लोढा, भारत गांधी, लक्ष्मीचंद चनोदिया, दिनेश छाजेड़, विक्रम छाजेड़, पवन बाफना, एआइएसएसजेसी विहार सेवा ग्रप, एस एमएसविहार सेवा एवं महालक्ष्मी लेआउट महिला मंडल ने भी लाभ लिया।
शांति हमारे मन की भीतरी चेतना-साध्वी भव्यगुणाश्री
शांति हमारे मन की भीतरी चेतना-साध्वी भव्यगुणाश्री
गायों को खिलाई लापसी
बेंगलूरु. मातृछाया जैन महिला संगठन की सदस्याओं ने अपने हाथों से गोवंश को लापसी का आहार कराया। इस अवसर पर मातृछाया जैन महिला संगठन की वंदना कोचर, सुशीला गुलेच्छा, उषा चोपड़ा, सारिका लुंकड़ ने गोशाला में की जा रही गोसेवा जीव दया की अनुमोदना की। सदस्याओं ने अहिंसा को परम धर्म बताते हुए स्वामी के पशु बलि रुकवाने, गो रक्षा एवं जीव दया के भगीरथ कार्यों की सराहना की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

कर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'Largest Vaccination Drive: भारत में 88% वयस्क आबादी को लग चुकी हैं COVID टीके की दोनों डोजVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मIPL के बाद लियम लिविंगस्टोन ने इस टूर्नामेंट में जड़ा सबसे लंबा छक्का, देखें वीडियो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.