परफ्यूम विशेषज्ञ मोनिका की हत्या के मामले में एक संदिग्ध गिरफ्तार

परफ्यूम विशेषज्ञ मोनिका की हत्या के मामले में एक संदिग्ध गिरफ्तार
bangalore news

Shankar Sharma | Updated: 09 Oct 2016, 11:51:00 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

गोवा पुलिस ने परफ्यूम विशेषज्ञ मोनिका घुर्दे की हत्या के मामले में बेंगलूरु से एक संदिग्ध आरोपी को गिरफ्तार किया है जबकि दूसरे संदिग्ध आरोपी की तलाश में पुलिस की टीम

बेंगलूरु/ पणजी. गोवा पुलिस ने परफ्यूम विशेषज्ञ मोनिका घुर्दे की हत्या के मामले में बेंगलूरु से एक संदिग्ध आरोपी को गिरफ्तार किया है जबकि दूसरे संदिग्ध आरोपी की तलाश में पुलिस की टीम अब भी कई राज्यों में संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है। मोनिका का शव 6 अक्टूबर को उत्तरी गोवा के अपने ही घर में अद्र्धनग्न अवस्था में पाया गया और हाथ-पैर बंधा था।

गोवा पुलिस के मुताबिक मामले की जांच के दौरान मिले सुराग के आधार पर संदिग्धों की तलाश में पड़ोसी राज्यों में टीम भेजी गई थी। पुख्ता सूचना के आधार पर शनिवार देर रात गोवा पुलिस की टीम ने संदिग्ध आरोपी को पकड़ा। एक संदिग्ध आरोपी अब भी फरार है, जिसकी तलाश जारी है।

एटीएम कार्ड के लेन-देन से पकड़ाया
संदिग्ध हत्यारों के मोनिका की हत्या के बाद उसके चुराए गए एटीएम कार्ड से हुए लेन-देन के आधार पर पुलिस उन तक पहुंची। मोनिका की हत्या के कुछ ही देर बाद संदिग्धों ने उसके घर के करीब तीन किलोमीटर दूर एक एटीएम से कार्ड के जरिए नकदी निकाली थी। महाराष्ट्र में कुछ जगहों पर भी उसी कार्ड से नकदी निकालने की पुष्टि होने के बाद पुलिस टीम ने संदिग्धों का पीछा कर रही थी।

इसके बाद बेंगलूरु के बसवनगुड़ी में एक दुकान से खरीदारी के लिए मोनिका के एटीएम कार्ड का उपयोग किया गया। एटीएम कार्ड से होने वाले लेन-देन के आधार पर संदिग्धों की तलाश में बेंगलूरु पहुंची गोवा पुलिस की टीम ने शनिवार रात कॉटनपेट इलाके में स्थित एक लॉज से संदिग्ध आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी को दबोचने से पहले गोवा पुलिस ने उन एटीएम केंद्रों से मिले सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला जहां से संदिग्धों ने नकदी निकाली थी। फुटेज के आधार पर ही पुलिस  ने दो संदिग्धों की पहचान की थी।

गोवा पुलिस के उप महानिरीक्षक विमल गुप्ता ने बताया कि संदिग्ध आरोपी का नाम राजकुमार सिंह है और वह मूलत: पंजाब का रहने वाला है। बेंगलूरु पुलिस के अधिकारियों ने संदिग्ध आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है लेकिन गोवा के पुलिस महानिदेशक मुक्तेश चंदर ने संदिग्ध आरोपी को बेंगलूरु से गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की है।

नौकरी से हटवाने की कीमत चुकाई
पुलिस सूत्रों के मुताबिक आरोपी पहले उसी अपार्टमेंट में चौकीदार था जहां मोनिका की हत्या हुइ। पति से अलग होकर मोनिका जुलाई में ही वहां रहने आई थी। बताया जाता है कि आरोपी को मोनिका की शिकायत के बाद नौकरी से हटाया गया था। जांच में पड़ोसियों ने बताया कि अगस्त में मोनिका का छाता चोरी हुआ, जो आरोपी के पास मिला। दोनों में काफी तकरार हुई थी। मोनिका की शिकायत पर सोसायटी ने आरोपी को नौकरी से हटाया था।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned