जरूरी हो तभी हॉर्न बजाएं-पाण्डेय

पौध वितरण अभियान का शुभारंभ
वाहन का हॉर्न कोई खिलौना नहीं

By: Yogesh Sharma

Published: 04 Oct 2021, 07:51 AM IST

बेंगलूरु. दक्षिण बेंगलूरु के डीसीपी हरीश पाण्डेय ने कहा कि ध्वनि प्रदूषण मानव की शांति में खलल डालता है। उच्च न्यायालय भी ध्वनि प्रदूषण को लेकर काफी गंभीर है। उच्च न्यायालय ने ध्वनि प्रदूषण को कम करने के लिए लाउडस्पीकर व वाहनों के प्रेशन हॉर्न का भी कम उपयोग करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस भी ध्वनि प्रदूषण कम करने के लिए वाहन चालकों के अनावश्यक हॉर्न बजाने पर कार्रवाई कर रही है। जहां भी सरकार ने शांति क्षेत्र घोषित कर रखे हैं या सिग्नल पर वाहन चालक हॉर्न नहीं बजाएं, इससे ध्वनि प्रदूषण बढ़ता है। उन्होंने कहा कि अनावश्यक हॉर्न बजाए जाने व ध्वनि प्रदूषण के कारण सडक़ दुर्घटनाएं भी होती हैं। अनावश्यक हॉर्न बजाना एक व्यवस्थित यातायात व आम नागरिक के लिए अच्छा नहीं है। उन्होंने वाहन चालकों को सलाह दी है कि जब तक आवश्यक नहीं हो वाहन का हॉर्न नहीं बजाएं।

पाण्डेय रविवार को महावीर इंटरनेशनल बेंगलूरु चेप्टर की ओर से लाल बाग वेस्ट गेट पर आयोजित पौध वितरण अभियान के शुभारंभ के बाद आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने महावीर इंटरनेशनल की ओर से ‘लेस हॉंकिंग मिन्स बैटर ड्राइविंग’ जागरूकता अभियान की भी शुरुआत की। इसका उद्देश्य वाहन चलाते समय कम से कम हॉर्न का उपयोग किया जाए ताकि अन्य व्यक्तियों को तकलीफ न हो। इससे पूर्व महावीर इंटरनेशनल बेंगलूरु चेप्टर के अध्यक्ष सुशील तलेसरा ने डीसीपी हरीश पाण्डेय का स्वागत किया। कार्यक्रम में सलाहकार समिति के सदस्य रमेश दक, अध्यक्ष सुशील तलेसरा, उपाध्यक्ष मनोज बाफणा, उपाध्यक्ष भारती छाजेड़, भाजपा नेत्री कविता पोरवाल, मुख्य सचिव विक्रम भंसाली, कोषाध्यक्ष सुरेश लखानी, नितेश गांधी, सुजय बाफणा, आशीष बाफणा, महावीर हुंडिया, शिव शर्मा, गोवर्धन देवासी, ध्रुव जैन, लक्ष्य जैन, अंकित छाजेड़, रितिका रूणवाल, वरुण गोटावत, अक्षय दक, निखिल जैन, रचना जैन, तरुण बाफणा, चिकपेट शाखा की महिला अध्यक्ष पुष्पा बोहरा, अक्षय मोदी व श्रीनिवास उपस्थित रहे।

जरूरी हो तभी हॉर्न बजाएं-पाण्डेय
Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned