अमेठी में खतरा ताड़कर वायनाड भागे राहुल: मोदी

अमेठी में खतरा ताड़कर वायनाड भागे राहुल: मोदी

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Apr, 10 2019 01:31:02 AM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

अमेठी में हार का खतरा देख कर राहुल गांधी को केरल के वायनाड की तरफ भागना पड़ा

बेंगलूरु. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सुरक्षित अमेठी सीट पर हार का खतरा देख कर राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश में पार्टी को मंझधार में छोड़कर केरल के वायनाड की तरफ भागना पड़ा है।

मोदी ने मंगलवार को मैसूरु में जनसभा मे कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी अपने इस गढ़ से इस तरह भागने लगेंगे तो उत्तर प्रदेश में पार्टी व उसके कार्यकर्ताओं की क्या दशा होगी। मोदी ने राहुल के कर्नाटक के बजाय केरल से चुनाव लडऩे पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि कर्नाटक में उनकी पार्टी सत्ता में हैं वे चाहते तो मैसूरु या चामराजनगर सीट से चुनाव लड़ सकते थे। लेकिन राहुल को कर्नाटक के लोगों के मिजाज का पता था। पूर्व में उनकी माता सोनिया गांधी ने एचडी देवगौड़ा को धोखा देकर उनको प्रधानमंत्री की कुर्सी से हटाया था। इस बार सोनिया के बेटे राहुल को कहीं देवगौड़ा कर्नाटक में हरा कर अपना बदला नहीं ले लें, इसी वजह से राहुल ने केरल के वायनाड को चुना है। कांग्रेस को जनता दल-एस पर विश्वास नहीं है, इसी वजह से नामदार कर्नाटक से लोकसभा चुनाव लडऩे का साहस नहीं जुटा पाए।

मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री को जिस तरह पंचिंग बैग बनाकर ब्लैकमेलिंग की राजनीति की है, उसे सारा देश देख रहा है। यह परिवावरवाद, वंशवाद व भ्रष्टाचार की राजनीति है और कांग्रेस व उनके सहयोगियों के प्रति देश भर में भारी गुस्सा है। प्रधानमंत्री ने कोडुग़ू के बाढ़ प्रभावितों व आदिवासियों की समस्याओं को हल करने के गंभीर प्रयास करने का भी भरोसा दिलाया।

उन्होंने कहा कि राज्य की गठबंधन सरकार ने कृषि ऋण माफी के नाम पर प्रदेश के किसानों को धोखा दिया है। उन्होंने राज्य सरकार पर पीएम किसान योजना के राज्य में क्रियान्वयन के मार्ग में भी रोड़े अटकाने का आरोप लगाया और कहा कि कर्नाटक सरकार ने अभी तक लाभार्थी किसानों की केंद्र को सूची तक पेश नहीं की है, जबकि देश के अन्य राज्यों के 3 करोड़ से अधिक किसानों ंको पहली किस्त मिल चुकी है।

केंद्र सरकार की पिछले पांच सालों की उपलब्धियों का जिक्र करने के साथ ही मोदी ने भाजपा के घोषणा पत्र के वादों का भी उल्लेख किया और कहा कि कांग्रेस की नीयत कभी गरीब का भला करने की नहीं रही है। मोदी ने कहा कि आपको देश की सेना व उसके पराक्रम पर भरोसा है, लेकिन जम्मू-कश्मीर पर कांग्रेस के विचार पाकिस्तान की विचारधारा से मेल खा रहे हैं। कांग्रेस केवल वोट बैंक की राजनीति कर रही है। ये लोग हिंदू आतंकवाद का राग छेड़ रहे हैं और जब हमने बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमला किया तो सबूत मांगने लग गए।

मोदी ने मंड्या से निर्दलीय उम्मीदवार सुमालता को सफल बनाने की अपील की और कहा कि कन्नड़ भाषा संस्कृति के विकास में सुमालता व उनके पति अंबरीश का बड़ा योगदान रहा है।

मोदी ने कहा कहा कि सबरीमाला को लेकर जो भावनाएं लोगों की है, वही भावना भाजपा की है। हम सुप्रीम कोर्ट के सामने आस्था व परंपरा का विषय रखेंगे और सबरीमाला की परंपराओं को संवैधानिक संरक्षण प्रदान करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि गरीबी हटाओ का नारा कांग्रेस दशकों से करती आ रही है पर अब गरीब को भी समझ में आ गया है कि कांग्रेस को हटाने से गरीबी स्वत: ही हट जाएगी।

कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येड्डियूरप्पा, वरिष्ठ नेता एसएम कृष्णा, मैसूरु-कोड़ुगू सीट से भाजपा उम्मीदवार प्रताप सिम्हा, चामराजनगर से पार्टी उम्मीदवार वी. श्रीनिवास प्रसाद, केजी बोपय्या, अरविंद लिंबावली, ए. रामदास सहित अन्य नेता मंच पर मौजूद थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned