फायरिंग कर अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कामाक्षीपाल्या पुलिस थानांतर्गत पुलिस ने एक कुख्यात अपराधी पर गोली चलाकर उसे गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार मागड़ी रोड के ब्याडनाहल्ली के तुंगा नगर निवासी शरवण उर्फ तरुण (२८) एक कुख्यात अपराधी है।

By: शंकर शर्मा

Published: 07 Jun 2018, 09:59 PM IST

बेंगलूरु. कामाक्षीपाल्या पुलिस थानांतर्गत पुलिस ने एक कुख्यात अपराधी पर गोली चलाकर उसे गिरफ्तार किया। पुलिस के अनुसार मागड़ी रोड के ब्याडनाहल्ली के तुंगा नगर निवासी शरवण उर्फ तरुण (२८) एक कुख्यात अपराधी है। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। पुलिस को सूचना मिली कि शरवण अपने मित्रों के साथ एक आटो में सुमनाहल्ली की तरफ आ रहा है। विजय नगर पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक नागेश के नेतृत्व में गठित विशेष दल ने सुमनाहल्ली के फ्लाई ओवर के पास आरोपियों के आने का इंतजार किया। शरवण और उसके दो मित्र एक ऑटो में सुमानहल्ली रिंग रोड से कामाक्षीपाल्या के पेटेचन्नप्पा औद्योगिक क्षेत्र की तफ जा रहे थे।


विशेष दल को देखते ही आरोपियों ने ऑटो रोका और फरार हो गए। पुलिस ने आरोपियों को आत्म समर्पण करने के लिए कहा। तीनों आरोपी अलग-अलग दिशा में फरार हो गए। पुलिस कांस्टेबल श्रीनिवासमूर्ति ने शरवण को दबोच लिया। शरवण ने श्रीनिवासमूर्ति पर चाकू से हमला कर फरार होने का प्रयास किया।


पुलिस निरीक्षक नागेश ने पुलिस कर्माचरियों की रक्षा के लिए शरवण के बाएं पैर पर गोली चलाई। शरवण नीचे गिर पड़ा और उसे गिरफ्तार कर उपचार के लिए विक्टोरिया अस्पताल में भर्ती कराया। दो आरोपी फरार हो गए। श्रीनिवास मूर्ति को विजय नगर की एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस उपायुक्त रवि एन. चन्नण्णनवर ने पत्रकारों को बताया कि गत माह २१, मई की रात पट्टेगारपाल्या में एक बाइक पर घर लौट रहे प्रवीण कुमार पर शरवण और उसके मित्रों ने हमला कर नकद १५ हजार रुपए, कीमती मोबाइल फोन और यूपीएस छीना था।

इसके बाद २ जून को कामाक्षीपाल्या में एक राहगीर पर हमला कर नकद तीन लाख रुपए लूटे थे। इसी तरह कई लोगों ने शरवण की धमकियों के कारण डर पुलिस थानों में रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई थी। इन सभी मामलों की जांच कर शरवण और उसके गिरोह को गिरफ्तार करने के लिए एक विशेष दल गठित किया था।

इस दल ने सबसे पहले प्रदीप और अक्षय नामक दो लुटेरों को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो पता चला कि इनका सरगना शरवण है। शरवण के स्वस्थ्य होने के बाद उसे पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned