अमृता-अरुण बने एक दूजे के लिए

प्रेम अमीर-गरीब, ऊंची-नीच, छोटे-बड़े की सीमाएं नहीं देखता। इस तथ्य को सार्थक करते हुए जिले के हिरियूर तहसील के सिगेहल्ली गांव की स्नातकोत्तर तक पढ़ी-लिखी युवती अमृता ने घरवालों के विरोध की परवाह नहीं करते हुए भेड़-बकरी चराने वाले अपने मित्र अरुण के साथ शादी

अमृता-अरुण बने एक दूजे के लिए
उच्च शिक्षित युवती ने की चरवाहे के साथ शादी
चित्रदुर्गा. कहते हैं कि प्रेम अमीर-गरीब, ऊंची-नीच, छोटे-बड़े की सीमाएं नहीं देखता। इस तथ्य को सार्थक करते हुए जिले के हिरियूर तहसील के सिगेहल्ली गांव की स्नातकोत्तर तक पढ़ी-लिखी युवती अमृता ने घरवालों के विरोध की परवाह नहीं करते हुए भेड़-बकरी चराने वाले अपने मित्र अरुण के साथ शादी कर ली है।
बताया जा रहा है कि हाइ स्कूल की शिक्षा के दौरान ही दोनों एक-दूसरे से प्यार करते थे। इस बीच लड़के ने पढ़ाई छोड़ दी। प्रेमिका तथा प्रेमी एक ही समुदाय के होने के बावजूद लड़का ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं होने के कारण लड़की के घर वालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था। इस बीच परिवार वालों ने लड़की की शादी किसी अन्य युवक से करने की तैयारियां शुरू कर दी, इसकी भनक लगते ही लड़की सिगेहल्ली गांव पहुंच गई। प्रेमिका तथा प्रेमी ने आनन-फानन में शादी करने का फैसला कर लिया था।
शनिवार को उसका प्रेमी गांव की पहाड़ी पर भेड़-बकरियां चरा रहा था, वहां दौड़ते हुए पहुंची अमृता को अरुण ने हल्दी के कांड से बना मंगलसूत्र बांध दिया। सोशल मीडया में मंगलसूत्र बांधने का यह वीडियो वायरल है।

Sanjay Kulkarni
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned