वैदिक मंत्रोच्चार के बीच आईमाता मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा

एचएसआर लेआउट में सीरवी समाज के नवनिर्मित मंदिर में आईमाता प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा व समाज भवन का उद्घाटन शनिवार को श्रद्धा एवं भक्ति के माहौल में धर्मगुरु माधवसिंह दीवान के सान्निध्य में हुआ। देशभर से आए बड़ी संख्या में समाजजन इसके साक्षी बने। क्षेत्र के गैर हिन्दी भाषियों ने भी पुष्पवर्षा व सडक़ पर रंगोली बनाकर भाईचारे का परिचय दिया।

By: Santosh kumar Pandey

Updated: 10 Mar 2019, 05:55 PM IST

पुष्प वर्षा से माहौल हुआ सुहाना
बेंगलूरु. एचएसआर लेआउट में सीरवी समाज के नवनिर्मित मंदिर में आईमाता प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा व समाज भवन का उद्घाटन शनिवार को श्रद्धा एवं भक्ति के माहौल में धर्मगुरु माधवसिंह दीवान के सान्निध्य में हुआ। देशभर से आए बड़ी संख्या में समाजजन इसके साक्षी बने। क्षेत्र के गैर हिन्दी भाषियों ने भी पुष्पवर्षा व सडक़ पर रंगोली बनाकर भाईचारे का परिचय दिया।

सुबह यज्ञ की पूर्णाहूति के बाद प्राण प्रतिष्ठा के लिए समाज के लाभार्थी ढोल ढमाकों के साथ मंदिर परिसर पहुंचे। समाज के धर्मगुरु दीवान माधवसिंह को समाज के कार्यकर्ता ढोल नगाड़ों के साथ मंदिर तक लाए।
मूर्तियों की प्रतिष्ठा चेन्नई से आए पंडित रविप्रकाश एवं टीम ने कराई। आई माता की मुख्य मूर्ति स्थापना के लाभार्थी मांगीलाल, चैनाराम, मोडाराम परिहारिया परिवार, अमर ध्वजा स्थापना के लाभार्थी मिश्रीबाई, शोभाराम चोयल परिवार, मुख्य कलश स्थापना (ईण्डा) के लाभार्थी सत्ताराम, प्रमोद गौतम काग परिवार रहे।

सचिव लक्ष्मणराम आगलेचा ने कहा कि दीवान माधवसिंह के मार्गदर्शन में समाज के सैकड़ों मंदिरों एवं भवनों का निर्माण हुआ जो समाज विकास को दर्शाता है। उपाध्यक्ष मांगीलाल चोयल, कोषाध्यक्ष ताराराम चोयल, सह कोषाध्यक्ष भुण्डाराम हाम्बड़ एवं सहसचिव छैलाराम काग ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर बोहराराम पंवार, भंवरलाल बर्फा, भंवरलाल चोयल, मानाराम परिहार, बाबूलाल परिहार, बाबूलाल पंवार, नेमाराम, नवयुवक मंडल अध्यक्ष मोहनलाल राठौड़, सचिव केनाराम मुलेवा, कोषाध्यक्ष बाबुलाल पंवार, सांस्कृतिक समिति के चैनारामआदि मौजूद रहे। संचालन सचिव लक्ष्मणराम आगलेचा ने किया।

 

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned