Road Jam: हजारों की संख्‍या में बेंगलूरु की सड़कों पर क्‍यों उमड़ा वाल्‍मीकि समाज!!!

Road Jam: हजारों की संख्‍या में बेंगलूरु की सड़कों पर क्‍यों उमड़ा वाल्‍मीकि समाज!!!

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 25 Jun 2019, 11:34:23 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • reservation बढ़ाने की मांग को लेकर वाल्मीकि समाज सड़कों पर
  • समाज के MLAs ने की सामूहिक त्यागपत्र की पेशकश
  • विशाल रैली के बाद Vidhan Saudha के सामने धरने से आसपास के इलाकों में लगा भारी जाम

बेंगलूरु. valmiki samaj के लोगों ने जजा reservation कोटा बढ़ाकर 7.5 फीसदी करने की मांग को लेकर मंगलवार को बेंगलूरु चलो आंदोलन के तहत vidhan saudha के सामने प्रदर्शन कर यातायात जाम कर दिया।

वाल्मीकि समाज (Valmiki Society) के विधायकों ने धमकी दी है कि यदि राज्य सरकार ने उनकी मांग पर विचार नहीं किया तो वे दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर अपनी विधानसभा (Assembly) की सदस्यता से सामूहिक त्यागपत्र दे देंगे।

प्रसन्नानंद स्वामी की अगुवाई में पिछले 15 दिनों से बल्लारी (Ballari) से पदयात्रा (Padyatra) करते हुए राजधानी में पहुंचे हजारों प्रदर्शनकारियों के धरने से राजधानी के केंद्रीय इलाकों में यातायात (Trafic) जाम हो गया। वाहन चालकों को निकलने के लिए घंटों मशक्कत करनी पड़ी।

फ्रीडम पार्क में प्रदर्शनकारियों की भीड़ को संबोधित करते हुए भाजपा विधायक बी. श्रीरामुलु , पूर्व सांसद व कांग्रेस नेता वी.एस. उग्रप्पा, विधायक नागेंद्र, जे.एन. गणेश सहित अन्य नेताओं ने मांग की कि राज्य सरकार भी केंद्र सरकार की तर्ज पर जजा आरक्षण कोटे (Reservation Quota) को 3 से बढ़ाकर 7.5 फीसदी करे। साथ ही राज्य सरकार वाल्मीकि समाज के लोगों की इस मांग को पूरा करने की केंद्र सरकार से सिफारिश करे।

ज्ञापन सौंपा, सीएम से की बात

समाज कल्याण मंत्री प्रियांक खरगे ने फ्रीडम पार्क जाकर प्रदर्र्शनकारियों से ज्ञापन लिया और उन्हें आंदोलन वापस लेने की समझाइश दी। खरगे ने प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधियों की एक निजी होटल में बैठक कर रहे मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumarswamy) से भी मुलाकात कराई। सीएम ने प्रतिनिधिमंडल से बात की और उनकी मांग पर विचार का आश्वासन भी दिया। मुख्यमंत्री के साथ समाज की बैठक में मंत्री सतीश जारकीहोली, ई.तुकाराम के अलावा बी. श्रीरामुलु, एन.वी.गोपालकृष्णा, नागेंद्र, महेश कुमटहल्ली, बी. श्रीरामुलु, वी.एस. उग्रप्पा, जे.एन. गणेश सहित अन्य नेताओं ने भाग लिया। हालांकि, बाद में सीएम ने खरगे को ही समाज के लोगों से बात करने का सुझाव दिया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned