scriptQuickly remove loudspeakers that are being used 'unauthorized' | 'बिना अनुमति' प्रयोग हो रहे लाउडस्पीकरों को तुरंत हटाएं | Patrika News

'बिना अनुमति' प्रयोग हो रहे लाउडस्पीकरों को तुरंत हटाएं

- सरकार ने जारी किए नए दिशा-निर्देश
- अब लेनी होगी संबंधित प्राधिकारी स इजाजत

बैंगलोर

Updated: May 11, 2022 10:16:22 am

मंदिरों और मस्जिदों में लाउडस्पीकर के उपयोग (Use of loudspeakers in temples and mosques) को लेकर पैदा हुए विवाद के बीच राज्य सरकार ने ऐसे लाउडस्पीकर को तुरंत हाटने के निर्देश दिए हैं जो 'संबंधित प्राधिकारी' की इजाजत के बिना उपयोग में लाए जा रहे हैं। इस संबंध में राज्य के मुख्य सचिव पी. रविकुमार की ओर से दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

'बिना अनुमति' प्रयोग हो रहे लाउडस्पीकरों को तुरंत हटाएं
'बिना अनुमति' प्रयोग हो रहे लाउडस्पीकरों को तुरंत हटाएं

15 दिन में लें अनुमति
मुख्य सचिव ने ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) अधिनियम, 2000 के कार्यान्वयन के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के 18 जुलाई 2005 और 28 अक्टूबर 2006 के आदेश का हवाला देते हुए कहा है कि लाउडस्पीकर या जन संबोधन प्रणाली का इस्तेमाल संबंधित प्राधिकारी की अनुमति के बिना न किया जाए। लाउडस्पीकर या जन संबोधन प्रणाली का इस्तेमाल करने वालों को 15 दिन के भीतर संबंधित प्राधिकारी से अनुमति लेनी होगी। जिन्हें अनुमति नहीं मिली है वे खुद लाउडस्पीकर हटा दें या फिर संबंधित प्राधिकारी द्वारा हटा दिया जाएगा।

समिति करेगी निर्णय
उन्होंने यह भी निर्देश दिया है कि Loudspeakers या जन संबोधन प्रणाली के आवेदन पर निर्णय करने के लिए विभिन्न स्तरों पर एक समिति का गठन किया जाए। पुलिस आयुक्त के क्षेत्रों में गठित होने वाली समिति में एक सहायक पुलिस आयुक्त, नगर निगम के एक कार्यकारी अभियंता और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का एक प्रतिनिधि शामिल होगा। अन्य क्षेत्रों में पुलिस उपाधीक्षक, तहसीलदार एवं राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का एक प्रतिनिधि होगा। यह निर्देश उन सभी परिसरों पर लागू होता है जो लाउडस्पीकर और जन संबोधन प्रणाली का उपयोग कर रहे हैं। सभी संबंधितों को तत्काल प्रभाव से इसे लागू करने के लिए आवश्यक सरकारी आदेश या निर्देश जारी किए जाएंगे।

सीएम के निर्देश पर कार्रवाई
दरअसल, विभिन्न संगठनों की ओर से अजान के विरोध में Temples में सुबह के समय हनुमान चालीसा तथा भजन कीर्तन आदि बजाने का अभियान शुरू किया गया है। यह अभियान मंगलवार को भी जारी रहा। इससे राज्य में एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। विवाद बढ़ता देख मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने उच्च अधिकारियों की एक बैठक बुलाई जिसके बाद मुख्य सचिव ने अतिरिक्त मुख्य सचिव जावेद अख्तर को नोट जारी किया है। इसमें वन, पारिस्थितिकी एवं पर्यावरण विभाग को भी 'संबंधित प्राधिकारी' के तौर पर परिभाषित किया गया है।

15 दिन के लिए अभियान स्थगित
इस बीच, सरकार के दिशा-निर्देश जारी करने के बाद श्रीराम सेना ने मंदिरों में लाउडस्पीकर पर Hanuman Chalisa जाप, सुप्रभातम और ओमकारा बजाने का अभियान स्थगित करने की घोषणा कर दी। श्रीराम सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक ने सरकार के दिशा-निर्देश जारी करने प्रसन्नता जताते हुए कहा कि सरकार को इसका पालन सुनिश्चित करवाना चाहिए। मुतालिक ने कहा कि हमने अभी 15 दिन के लिए अभियान स्थगित करने का निर्णय लिया है। इसके बाद स्थिति को देखते हुए अगला कदम उठाया जाएगा। इससे पहले बेंगलूरु के विवेक नगर में पुलिस ने माइक पर हनुमान चालीसा जाप करने का प्रयास कर रहे संगठन के 10 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.