राहुल गांधी ने की योगी की आलोचना, फंस गए कुमारस्वामी

राहुल गांधी ने की योगी की आलोचना, फंस गए कुमारस्वामी

Ram Naresh Gautam | Updated: 12 Jun 2019, 04:46:23 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • मुख्यमंत्री के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले दो युवक गिरफ्तार

बेंगलूरु. राजनेताओं के खिलाफ बयानबाजी करना इन दिनों पूरे देश आम लोगों को भारी पड़ रहा है।

जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित आपत्तिजनक समाचार प्रसारित करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पत्रकारों को मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने तत्काल रिहा करने का आदेश दिया और योगी सरकार को फटकार लगाई, वहीं बेंगलूरु में दो युवक इसी प्रकार के एक मामले में जेल की हवा खा रहे हैं।

युवकों की गिरफ्तारी सहित हाल के दिनों में राज्य में गिरफ्तार किए गए कुछ पत्रकारों के मामले को मुद्दा बनाकर भाजपा ने कुमारस्वामी सरकार पर हमला बोला है।

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ सोशल मीडिया पर कथित आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में हाई ग्राउंड्स पुलिस ने दो युवकों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार किए गए पेट्रोल पंप पर काम करने वाले 26 वर्षीय सिद्रराजू और टैक्सी चालक चामराजू (28) पर कुमारस्वामी परिवार के खिलाफ अभद्र भाषा उपयोग करने का आरोप है।

दोनोंं ने बताया कि कुमारस्वामी के पुत्र निखिल और पिचा एचडी देवगौड़ा के लोकसभा चुनाव हारने पर कुमारस्वामी के परिवार के खिलाफ अश्लील शब्दों का इस्तेमाल कर वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर अपलोड किया।

जद-एस के एक कार्यकर्ता ने दोनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने आइपीसी 504 और 505 (2) के तहत मामला दर्ज किया।

हाल ही में इसी प्रकार कुछ पत्रकारों की भी गिरफ्तारी हुई थी जिन पर कुमारस्वामी की छवि धूमिल करने का आरोप था।

वहीं योगी सरकार में हुई गिरफ्तारियों के बाद जब राहुल गांधी ने योगी सरकार पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन करने का आरोप लगाया तब कर्नाटक भाजपा ने पूरे मामले में कुमारस्वामी सरकार को घेर लिया।

कर्नाटक भाजपा की ओर से किए गए ट्विट में कहा गया कि राहुल गांधी को योगी सरकार पर आक्रामक होने के पहले कर्नाटक की सरकार को देखना चाहिए जहां कांग्रेस भी गठबंधन में है।

कर्नाटक में जो भी पत्रकार या नागरिक कुमारस्वामी के खिलाफ बोलता है उसे गिरफ्तार किया जा रहा है।

हालांकि इस पर जद-एस की ओर से भाजपा को घेरते हुए कहा गया कि तो भाजपा इस बात को स्वीकारती है कि वह फर्जी खबरें चलवाती है और ऐसे लोगों का अंतिम ठिकाना जेल होता है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned