झूम के बरसे बदरा, बिजली ने भी खेली आंख-मिचौली

कोरोना वायरस के कोहराम से ठहरी हुई गार्डन सिटी की सड़कें गुरुवार की शाम बारिश से नहा उठीं।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 09 Apr 2020, 09:31 PM IST

बेंगलूरु. कोरोना वायरस के कोहराम से ठहरी हुई गार्डन सिटी की सड़कें गुरुवार की शाम बारिश से नहा उठीं।

पहले हवा तेज हुई, फिर आसमान में बिजली कड़की और देखते-देखते ही झमाझम शुरू हो गई। पिछले कुछ दिनों के अनुभव को देखते हुए बिजली गुल होने की आशंका के चलते लोगों ने फौरन रोशनी का इंतजाम करना शुरू कर दिया।

जैसे ही बारिश की बूंदें और तेज हुईं, बिजली लोगों की उम्मीदों पर खरी उतरी और स्याह सन्नाटा छोड़कर गायब हो गई। चिकपेट, राजराजेश्वरीनगर, राजाजीनगर, विजयनगर, इलेक्ट्रानिक सिटी सहित तमाम इलाके लम्बे समय तक अंधेरे में डूबे रहे।

बिजली गुल होने से घर से काम कर रहे लोगों का कामकाज प्रभावित हुआ। लोगों ने सोशल मीडिया पर लोगों बिजली आपूर्ति कम्पनी पर जमकर निशाना साधा।

मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को शहर का अधिकतम तापमान ३४.२ डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान १६.९ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। शुक्रवार को भी शाम के समय बिजली कड़कने और बारिश का अनुमान है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned