रेशमा पडेकनूर की हत्या की गुत्थी सुलझी, दो आरोपी गिरफ्तार

रेशमा पडेकनूर की हत्या की गुत्थी सुलझी, दो आरोपी गिरफ्तार

Shankar Sharma | Updated: 04 Jun 2019, 11:28:01 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

कांग्रेसी नेता एवं कर्नाटक रक्षणा वेदिके की प्रदेश उपाध्यक्ष रेशमा पडेकनूर की हत्या की गुत्थी को सुलझाने में आखिरकार पुलिस को सफलता मिल ही गई।

विजयपुर. कांग्रेसी नेता एवं कर्नाटक रक्षणा वेदिके की प्रदेश उपाध्यक्ष रेशमा पडेकनूर की हत्या की गुत्थी को सुलझाने में आखिरकार पुलिस को सफलता मिल ही गई। पुलिस ने हत्या के प्रमुख आरोपी तौफीक इस्माइल शेख एवं इजाक बंदेनवाज बिरादार को गिरफ्तार कर लिया है।

हत्या में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। हत्या के दौरान आरोपियों की ओर से काम में ली गई कार को भी जब्त कर लिया गया। इस बात की जानकारी जिला पुलिस अधीक्षक प्रकाश निक्कम ने सोमवार को दी। गौरतलब है कि रेशमा पडेकनूर की हत्या १६ मई को कर दी गई थी।


पुलिस अधीक्षक ने यह भी बताया कि इंडी तालुक हलसंगी मोड़ के निकट एक निजी होटल के पास आरोपियों के होने की पुख्ता जानकारी प्राप्त होते ही छापा मार कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। रेशमा पडेकनूर काफी दिनों से आरोपी तौफीक को जानती थी। हत्या की शिकार होने वाली रेश्मा अक्सर तौफीक से मिलने सोलापुर जाया करती थी। तौफीक भी पत्नी को बिना बताए रेशमा से मिलने आया करता था। जब इस बात की जानकारी तौफीक की पत्नी को हुई तो पति-पत्नी में छिटपुट झगड़ा भी होने लग गया।


उधर, रेशमा पडेकनूर तौफीक से जायदाद उसके नाम करने, पैसे देने, आठ एकड़ खेत की मांग करने लगी थी। रेशमा की मांग पूरी नहीं होने पर उसने तौफीक के खिलाफ सोलापुर सदर बाजार थाने में मामला भी दर्ज करवा दिया।
मोबाइल से ऑडियो क्लिप भी वायरल करवाई। इन सारी चीजों से परेशान होकर आरोपी तौफीक तथा उसके साथियों ने रेशमा की हत्या की योजना बनाई।


आरोपितों से पूछताछ के दौरान यह पता चला कि मई १६ की देर रात रेशमा पडेकनूर को एक कार में ले गए और उसकी हत्या कर दी। बाद में लाश को कोल्हार के कृष्णा नदी में फेंककर चले गए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभी तक मौत कैसे हुई, इसकी सही रिपोर्ट उनको नहीं मिली है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के सही कारणों के बारे में बताया जा सकेगा।


तौफीक के खिलाफ ३१ मामले दर्ज
पुलिस अधीक्षक प्रकाश निक्कम ने बताया कि इस मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपी आपराधिक पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखते हैं। आरोपी तौफीक शेख के खिलाफ हत्या, जबरन वसूली, अपहरण, अवैध रूप से हथियार रखने जैसे कुल ३१ मामले अलग-अगल थानों में दर्ज हैं।


हाल ही में महाराष्ट्र सरकार के गुंडा अधिनियम के अंतर्गत तौफीक को गिरफ्तार किया गया था। इसी प्रकार दूसरे आरोपी एजाज बिरादार के खिलाफ भी २१ से अधिक मामले दर्ज हैं। चिक्कोड़ी, रायबाग, झलकी, इंडी, सोलापुर, सांगली पुलिस थाने में मामले दर्ज किए गए हैं।


पुलिस टीम के कार्य को सराहा
जिला पुलिस अधीक्षक प्रकाश निक्कम ने रेशमा पडेकनूर हत्या के मामले को सुलझाने में सफलता पाने वाली पुलिस जांच टीम के कार्य की सराहना की और साथ ही टीम के लिए इनाम घोषित किया। उन्होंने सहायक पुलिस अधीक्षक बीएस नेमगौड़ा, डीएसपी महेश्वरगौडा, डीएसपी डी.अशोक, पुलिस अधिकारी एम.एन. शिरहट्टी, बी.बी. बिसनकोप्पा, रमेश पाटील, आरिफ मुशापुरी, एम.आई. मुल्ला, आई.एम. पेंडारी, कलस गोंड, हत्तरकिहाल, मोकाशी तथा पुजारी के कार्य की विशेष तौर पर प्रशंसा की।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned