कर्नाटक में विशेषज्ञ चिकित्सकों व दंत चिकित्सकों को अब मिलेगा ज्यादा भत्ता

  • सभी लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। विशेष भत्ते को अंतिम बार वर्ष 2015 में संशोधित किया गया था।

By: Nikhil Kumar

Updated: 24 Dec 2020, 09:29 AM IST

बेंगलूरु. कोविड महामारी के बीच प्रदेश सरकार ने विशेषज्ञ चिकित्सकों, चिकित्सा अधिकारियों और दंत चिकित्सकों को ज्यादा विशेष भत्ता देने का निर्णय किया है। जो एक सितंबर 2020 से प्रभावी मानी जाएगी। सभी लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। विशेष भत्ते को अंतिम बार वर्ष 2015 में संशोधित किया गया था।

स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान संबंधित चिकित्सकों की सेवा और युवा चिकित्सकों को भविष्य में ग्रामीण सेवा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के तहत कार्यरत इन चिकित्सकों के विशेष भत्ते को एक सितंबर 2020 से संशोधित किया गया है।

छह वर्ष तक के अनुभव वाले एमबीबीएस और बीडीएस चिकित्सकों के लिए 21,000 रुपए के बदले अब 30,500 रुपए का प्रावधान किया गया है। स्नातकोत्तर (पीजी) व डिप्लोमा वालों के लिए भत्ता 42,600 रुपए से बढ़ाकर 55,000 रुपए कर दिया गया है। सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सकों का भत्ता भी 50,800 रुपए से बढ़ाकर 64,500 रुपए किया गया है।

छह से 13 वर्ष के अनुभव वाले एमबीबीएस और बीडीएस चिकित्सकों को 37,500 रुपए, पीजी व डिप्लोमा वालों को 64,500 और सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सकों को 73,500 रुपए का विशेष भत्ता मिलेगा।

13 से 20 वर्ष के अनुभव वाले एमबीबीएस और बीडीएस चिकित्सकों को 44,500 रुपए, पीजी व डिप्लोमा वालों को 73,500 और सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सकों को 83,500 रुपए का विशेष भत्ता मिलेगा।

25 से ज्यादा वर्षों का अनुभव रखने वाले एमबीबीएस और बीडीएस चिकित्सक 60,500, पीजी व डिप्लोमा वाले 93,500 और सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सक 10,3500 रुपए का भत्ता उठा सकेंगे।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned