सड़क की हालत ऐसी कि आठ घंटे जाम रहा राजमार्ग

सड़कों की बेहाल स्थिति का बड़ा खामियाजा बेंगलूरु-मेंगलूरु राष्ट्रीय राजमार्ग पर हजारों वाहनों को झेलना पड़ा। सकलेशपुर के पास करीब आठ घंटे तक राजमार्ग पर यातयात पूरी तरह से जाम जिससे कई किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई।

बेंगलूरु. सड़कों की बेहाल स्थिति का बड़ा खामियाजा बेंगलूरु-मेंगलूरु राष्ट्रीय राजमार्ग पर हजारों वाहनों को झेलना पड़ा। सकलेशपुर के पास करीब आठ घंटे तक राजमार्ग पर यातयात पूरी तरह से जाम जिससे कई किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई।

जाम में फंसे वाहन चालकों के अनुसार हेग्गाड्डे और सशलेशपुर के बीच सड़क की हालत बेहद जर्जर है। सड़क पर कई जगहों पर जहां तहां बड़े बड़े गड्ढे और कीचड़ हैं। इसी कारण शनिवार तड़के करीब २ बजे पांच लॉरियां और दो टैंकरों का पहिया गड्ढों में धंस गया और नतीजतन सुबह ११ बजे तक पूरा राजमार्ग जाम रहा। गड्ढों में फंसे वाहनों को निकालने के दौरान पता चला कि एक वाहन का पहिया पंक्चर हो गया है। इस कारण जाम हटाने में और ज्यादा परेशानी आई।
राजमार्ग पर करीब १० किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई। बाद में स्थानीय पुलिस ने ३-४ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सड़क पर वाहनों का परिचालन आरंभ कराया। हालंाकि इस दौरान बस और कारों में हजारों मुसाफिर जहां तहां फंसे रहे। जाम के कारण मारनहल्ली और डोंगली गांवों के दैनिक कामगार और विद्यार्थी सकलेशपुर भी नहीं पहुंच पाए।

स्थानीय लोगों का कहना है कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने सड़क की उपेक्षा कर रखी है। इस वजह से आए दिन वाहन चालकों को परेशानी झेलनी पड़ती है। इसका सीधा असर आसपास के गांवों पर पड़ता है क्योंकि उनका दैनिक कामकाज पूरी तरह से ठप हो जाता है।

Santosh kumar Pandey
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned