हजारे के आंदोलन में शामिल होंगे हेगड़े

हजारे के आंदोलन में शामिल होंगे हेगड़े

Rajeev Mishra | Publish: Mar, 14 2018 06:56:48 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

सक्रिय भागीदारी निभाएंगे पूर्व लोकायुक्त, 23 मार्च से नई दिल्ली में भूख हड़ताल करेंगे हजारे

बेंगलूरु. लोकपाल के मुद्दे पर 23 मार्च से नई दिल्ली में भूख हड़ताल करने जा रहे अन्ना हजारे के आंदोलन में उच्चतम न्यायालय के पूर्व जज और राज्य के पूर्व लोकायुक्त जस्टिस एन.संतोष हेगड़े भी शामिल होंगे। जस्टिस हेगड़े वर्ष 2011 के अन्ना हजारे के आंदोलन का भी हिस्सा रहे और 23 मार्च से शुरू हो रहे आंदोलन में भी शामिल होने के लिए दिल्ली जाएंगे।
हेगड़े ने कहा कि हाल ही में बेंगलूरु दौरे पर आए अन्ना हजारे से उनकी भेंट हुई थी। हजारे के बुलाने पर वे उनसे मिलने गए थे। उन्होंने कहा 'मुलाकात के दौरान हजारे ने मुझसे कि मुझे आंदोलन में उनके साथ जुडऩा चाहिए। उसके बाद उन्होंने एक दूसरे व्यक्ति से मुझे संदेश भेजा और मैं उनके साथ आंदोलन में जुडऩे को तैयार हो गया।Ó उन्होंने कहा कि यह आंदोलन पूरी तरह गैर राजनीतिक होगा और जब तक गैर राजनीतिक रहेगा वे उससे जुड़े रहेंगे। हजारे ने उनसे कहा है कि आंदोलन पूरी तरह राजनीति से परे रहेगा।
अन्ना हजारे कई बार कह चुके हैं कि लोकपाल, लोकायुक्त और चुनावी सुधारों के लिए अगर उचित विधेयक पारित नहीं किया जाता है तो वे 23 मार्च से भूख हड़ताल करेंगे। हेगड़े ने कहा कि हजारे के उठाए गए मुद्दों के आधार पर वो इस आंदोलन में काफी सक्रिय भागीदारी करेंगे। उन्हें इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं है कि वर्तमान एनडीए सरकार लोकायुक्त की नियुक्ति के मुद्दे पर सक्रिय नहीं है। लोकपाल की नियुक्ति में देरी पर भी हेगड़े ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि 'जो पार्टी सत्तासीन है, भ्रष्टाचार विरोधी लोकपाल नहीं चाहती है क्योंकि उसे यह डर है कि अगर लोकपाल कार्यालय से सच निकल जाए तो वह संकट में पड़ जाएंगे। वर्तमान प्रधानमंत्री जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने लोकायुक्त की नियुक्ति नहीं की थी। अंतत: गुजरात उच्च न्यायालय ने उन्हें लोकायुक्त की नियुक्ति का निर्देश दिया। केंद्र भी आने पर लगता है उनका वहीं रवैया कायम है।

 

Ad Block is Banned