जीवन में आगे बढऩे के लिए सरस्वती की कृपा जरूरी-आचार्य महेन्द्रसागर

माता सरस्वती का जाप एवं साधना शुरू

By: Yogesh Sharma

Published: 08 Oct 2021, 09:37 AM IST

बेंगलूरु. महावीर स्वामी जैन श्वेेतांबर मूर्तिपूजक संघ त्यागराज नगर में विराजित आचार्य महेंद्रसागर सूरी के सानिध्य में माता सरस्वती का जाप एवं साधना शुरू हुई। आचार्य ने मां शारदे के भक्तों से कहा कि माता सरस्वती को सौभाग्य, विद्या तथा शांति की देवी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि उनकी जाप, साधना, आराधना, पूजा से सच्ची विद्या प्राप्त होती है और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। साथ ही माता सरस्वती डर और भय को भी दूर करती है और उनकी कृपा से व्यक्ति को यश कीर्ति और सच्चे व सही जान की भी प्राप्ति होती है। मां के एक हाथ में वीणा और एक हाथ में माला है। माता सरस्वती कमल पर सवार होकर संपूर्ण हिमालय पर विराजमान मानी जाती है। माता सरस्वती की कृपा के बिना सही समझ और सही गलत की पहचान नहीं आ सकती। जीवन के विकास और आध्यात्मिक विकास के लिए माता सरस्वती की कृपा बेहद जरूरी है।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned