scriptSevere heatwave in North India, no 'heatwave' in Karnataka | उत्तर भारत में भीषण लू, कर्नाटक में कोई ‘हीटवेव’ नहीं | Patrika News

उत्तर भारत में भीषण लू, कर्नाटक में कोई ‘हीटवेव’ नहीं

  • बेंगलूरु में अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस

बैंगलोर

Published: April 30, 2022 04:28:49 pm

बेंगलूरु. देश के उत्तरी हिस्सों में जहां भीषण लू (heat wave) की स्थिति बनी हुई है वहीं कर्नाटक में पिछले दो हफ्तों में छिटपुट वर्षा के कारण ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा है।

मौसम विभाग के अनुसार राज्य के तटीय और आंतरिक क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर औसत से अधिक तापमान दर्ज किया गया, जबकि पिछले दो दिनों में पारा में मामूली वृद्धि हुई है। उत्तर आंतरिक कर्नाटक के कुछ जिलों मेें पारा 40 डिग्री सेल्सियस के निशान को पार कर गया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों के अनुसार 21 अप्रेल को कलबुर्गी में मौसम का उच्चतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
शनिवार को कलबुर्गी जिले का तापमान 41.9 डिग्री सेल्सियस, जबकि रायचूर में 41.2 डिग्री सेल्सियस और बीदर, विजयपुरा और कोप्पल जिलों में 40 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में दावणगेरे में 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि मैसूरु और शिवमोग्गा में गुरुवार को 36 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।
heat-wave.jpg
बेंगलूरु में गर्मी का ज्यादा असर नहीं
पिछले सप्ताह बेंगलूरु शहर में औसतन तापमान 34 डिग्री सेल्सियस और 36 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। हालांकि गार्डन सिटी वालों को लगता है कि यह चरम गर्मी है। आईएमडी के अधिकारियों का कहना है कि इस साल का तापमान तुलनात्मक रूप से कम है। बेंगलूरू में महसूस किया गया तापमान हमेशा अधिक लगता है क्योंकि शहर अधिक ऊंचाई पर होता है। इस साल, हम कह सकते हैं कि अप्रेल तुलनात्मक रूप से ठंडा रहा है क्योंकि ऐसे दिन थे जब पिछले वर्षों में तापमान 37-39 डिग्री सेल्सियस को छू गया था।
मौसम विभाग के अनुसार रामनगर, चामराजनगर, तुमकुरु और मैसूर जैसे जिलों में तापमान अधिक है क्योंकि मैदानी इलाकों में पारा का स्तर हमेशा अधिक होता है।

राज्य में कोई हीटवेव नहीं

अधिकारियों ने कहा कि इस गर्मी में अब तक राज्य में कोई हीटवेव नहीं देखी गई है और आईएमडी द्वारा कोई अलर्ट जारी नहीं किया गया है। जब तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला जाता है या जब सामान्य से 4.5त्न की गिरावट होती है, तो हम इसे हीटवेव कहते हैं। अगले तीन दिनों तक राज्य में लू का अलर्ट नहीं रहेगा।
बिजली आपूर्ति पर मामूली असर

बेसकॉम के अधिकारियों के अनुसार बढ़ते तापमान का शहर भर में बिजली आपूर्ति पर बहुत कम असर पड़ा है। हालांकि शहर के कुछ हिस्सों में बिजली कटौती का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादातर मानसून से पहले भूमिगत केबल बिछाने के काम में आने वाली रुकावटें हैं।
बता दें कि बेंगलूरु में शनिवार को अधिकतम तापमान ३६ डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान २२.७ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.