कर्नाटक में मंत्री के घर में टीका लगवाने के मामले पर स्वास्थ्य अधिकारी को नोटिस

  • हो सकती है अनुशासनात्मक कार्रवाई

By: Santosh kumar Pandey

Published: 03 Mar 2021, 08:57 PM IST

बेंगलूरु. कृषि मंत्री बीसी पाटिल (Agriculture Minister B C Patil) और उनकी पत्नी को मंगलवार को प्रोटोकॉल तोड़कर घर में टीका लगाने वाला मामला तूल पकडऩे के बाद बुधवार को हावेरी के एक स्वास्थ्य अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक अरुंधति (The National Health Mission director Arundhathi) ने हावेरी के बाल स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दयानंद को नोटिस दिया। नोटिस उनसे प्रोटोकॉल तोडऩे का कारण पूछा गया है।

निदेशक का कहना था कि भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, टीकाकरण तय अस्पतालों में किया जाना चाहिए। तय मानदंडों की अवहेलना से स्वास्थ्य विभाग की छवि खराब हुई। नोटिस में कहा गया है कि यदि अधिकारी गलत पाया गया तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

मालूम हो कि कर्नाटक के कृषि मंत्री बीसी पाटिल अपने घर में ही कोविड-19 टीका लगवाकर विवादों में घिर गए हैं। केन्द्र ने इस संबंध में राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

पाटिल (64) और उनकी पत्नी ने हावेरी जिले में अपने हीरेकेरूर स्थित आवास में टीका लगवाया। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर और अन्य लोगों ने इसकी आलोचना की है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned