scriptSocial Media's Mind hacking In Assembly Election UttarPradesh | Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग' | Patrika News

Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'

डिजिटल सेनाएं आभासी दुनिया में लड़ रही हैं वास्तविक जंग

बैंगलोर

Updated: February 21, 2022 07:41:51 am

यह पहला मौका है जब पांच राज्यों में चुनाव की घोषणा के समय ही Election Commission ने कोरोना के कारण राजनीतिक दलों को वर्चुअल प्रचार करने का निर्देश दिया। हालांकि, नए दौर के तौर-तरीकों से लैस राजनीतिक दलों ने पहले से ही आभासी दुनिया में अपनी-अपनी डिजिटल सेनाएं उतार रखीं हैं, जो मतदाताओं का दिमाग हैक (मन पढ़कर) कर उन्हें अपनी पार्टी के पक्ष में ढाल रहीं हैं। 'माइंड हैकिंग' का यह 'गेम' सोशल मीडिया पर शिद्दत से खेला जा रहा है। 'माइंड हैकिंग' शब्द अमरीकी चुनाव में कथित रूसी दखल के समय सामने आया था।
Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'
Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'
डिजिटल तकनीक में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बढ़ते इस्तेमाल ने इस खतरे को और बढ़ा दिया है। फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसी सोशल मीडिया कंपनियों पर दल-विशेष के पक्ष-विरोध वाले कंटेंट को पक्षपातपूर्वक फैलाने या रोकने के आरोप लगते रहे हैं।

डिजिटल वर्कर
पांचों चुनावी राज्य यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में जमीनी कार्यकर्ताओं से ज्यादा पूछ-परख डिजिटल वर्करों की हो रही है। डिजिटल वर्करों ने आभासी दुनिया पर ऐसा भ्रमजाल बुन दिया है कि मतदाता उन्हीं मुद्दों और विचारों के आसपास घूमने को मजबूर है जो सियासी दलों के अनुकूल हो। आभासी वार-पलटवार में जनता के असली मुद्दों की जगह 'ट्रेंडिंग टॉपिक' ने ले ली है। 'हैश टैक' अचूक हथियार बन गया है और डिजिटल सेनाएं असली ताकत।

सभी प्रमुख दल वोटरों की शिक्षा, समृद्धि, जीवन स्तर आदि बातों का ध्यान रखते हुए रणनीति बनाकर प्रचार कर रहे हैं। दल अपनी सामथ्र्य से आइटी विंग पर खूब पैसा बहा रहे हैं। इसके हिसाब-किताब की निगरानी चुनाव आयोग के लिए भी नई चुनौती है।
Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'हैशटैग का खेल...
रविवार को जब पंजाब और उत्तरप्रदेश में वोटिंग हो रही थी, इस तरह के हैशटैग ट्रेंड होते रहे-
#आरहीहैकांग्रेस
#यूपीवोट्सबीजेपी
#पंजाबवोट्सएनडीए
#वोटटूडिफीटबीजेपी
#वोटफॉरकांग्रेस
#झाड़ूपेवोट

Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'यों समझें दलों की रणनीति...
सोशल मीडिया एक्सपर्ट डॉ. पवन शर्मा के अनुसार उत्तर प्रदेश में भाजपा और सपा ने लोअर और अपर मिडिल क्लास पर फोकस करते हुए फेसबुक पर सबसे ज्यादा जोर दिया है, जबकि कांग्रेस और बसपा इसमें काफी पीछे रह गई। उत्तर प्रदेश में भाजपा-सपा में मुकाबला भी माना जा रहा है।
इसी प्रकार पंजाब में आम आदमी पार्टी सोशल मीडिया पर भाजपा और कांग्रेस से तीन गुना आगे है। भाजपा ने यहां किसान आंदोलन के चलते बहुत ज्यादा फोकस नहीं किया।

उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस में सोशल मीडिया पर भी तगड़ी टक्कर है। भाजपा यहां फेसबुक में पीछे तो ट्विटर में आगे है। इसी प्रकार गोवा और मणिपुर में मध्यमवर्गीय लोग कम हैं।
इसलिए दोनों राज्यों में भाजपा, कांग्रेस, एनपीपी और आप फेसबुक के साथ ट्विटर पर भी एक दूसरे को टक्कर देते नजर आ रहे हैं।

Assembly Election : इस बार नई सेटिंग...'माइंड हैकिंग'
  • भाजपा- आप पहले से मजबूत
    अमित शाह ने 2014 लोकसभा चुनाव से पूर्व बूथ स्तर तक वॉट्सऐप ग्रुप तैयार किए थे। इस रणनीति ने डिजिटल दुनिया में भाजपा को मजबूत किया। तब बसपा ने इसे तवज्जो नहीं दी, इसलिए वह पिछड़ गई। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी सोशल मीडिया पर मजबूती से बढ़ी।
    - प्रो. रविकांत, राजनीतिक विश्लेषक, लखनऊ विश्वविद्यालय


  • यहां भी वर्ग-संघर्ष
    फेसबुक की लोकप्रियता लोअर मिडिल क्लास तक है। ट्विटर पर अपर मिडिल क्लास से लेकर शीर्ष सियासी वर्ग तक हावी है। इंस्टाग्राम पर यूथ ज्यादा हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के प्रभाव और उसके यूजर्स की फि़तरत के लिहाज से पार्टियां उनमें अपने फॉलोवर बनाने की रणनीति अपनाती हैं।
    - डॉ. पवन शर्मा, सोशल मीडिया एक्सपर्ट, जयपुर, राजस्थान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्ममां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेरपाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने अलापा कश्मीर राग कहा- शांति सुनिश्चित करने के लिए धारा 370 को करें बहाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.