ज्ञान के साथ अध्यात्म भी जोडऩा होगा-गोयल

कर्नाटक स्तरीय ज्ञानशाला कार्यशाला

By: Yogesh Sharma

Published: 09 Jun 2021, 04:22 PM IST

बेंगलूरु. तेरापंथ सभा बेंगलूरु के तत्वावधान में गांधीनगर स्थित तेरापंथ ज्ञानशाला की ओर से जूम पर कर्नाटक स्तरीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। इस कार्यशाला का विषय-आध्यात्मिक ज्ञान के साथ विज्ञान था। तेरापंथी महासभा अध्यक्ष सुरेश गोयल ने कहा कि हमें विज्ञान के साथ अध्यात्म को जोडऩा पड़ेगा, तब जाकर हमारी भावी पीढ़ी इसे सहर्ष अपनाएगी। कार्यशाला में ज्ञानशाला प्रशिक्षिकाओ की उपस्थिति रही। महासभा से सहमंत्री प्रकाश लोढा, कर्नाटक आंचलिक प्रभारी कैलाश बोराणा, कर्नाटक आंचलिक सयोजक माणकसंचेती, सुरेश नाहर उपस्थित रहे। सभाध्यक्ष सुरेश दक ने स्वागत किया। मंत्री नवनीत मूथा ने आयोजन की सराहना की। बेंगलूरु से चेतना वेदमूथा, बबिता चोपड़ा, लता गांधी, मंजू गन्ना, उत्तर कर्नाटक से शर्मिला छाजेड़, शोभा तातेड़,रेखा कोठारी ने महासभा अध्यक्ष का अभिनन्दन किया। संचालन बेंगलूरु ज्ञानशाला संयोजिका नीता गादिया ने किया।

कार्यशाला में बताया परेशानियों से उबरने का तरीका
बेंगलूरु. जूनियर चैम्बर इंटरनेशनल इंडिया के बेंगलूरु होराइजन शाखा के तत्वावधान में मैं ही क्यों विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। सुनील सांखला ने बताया कि हम अक्सर मैं ही क्यों हमेशा ऐसी मुश्किल परिस्थिति में फंस जाता हूं, या मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है?", सभी मुश्किल समय में ऐसा सोचते हैं। हम ऐसी सोच से कैसे उबर सकते हैं? सकारात्मक विचार रखते हुए दिक्कतों को चुनौतियों के रूप में स्वीकार कर ऐसी परिस्थितियों से उबरा जा सकता है।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned