कर्नाटक में मुख्यमंत्री ने दिए लॉकडाउन के संकेत

  • कहा, लोगों ने लापरवाही बरती तो उठाएंगे कड़े कदम

By: Santosh kumar Pandey

Published: 12 Apr 2021, 07:07 PM IST

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने सोमवार को कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो राज्य सरकार लॉकडाउन का फैसला ले सकती है।
बीदर में संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि लोगों को अपने भले के लिए कोरोना को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की आवश्यकता है। यदि ध्यान नहीं दिया गया तो हमें कड़े कदम उठाने पड़ सकते हैं। आवश्यकता पड़ी तो लॉकडाउन लागू करेंगे।

राज्य में रविवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या 10,000 के पार जाने के बारे में एक सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने उनकी सरकार द्वारा किए गए उपायों के बारे में भी उनसे बात की थी। मैंने उनसे कहा कि हमने उन जिलों में रात का कफ्र्यू लगाया है जहां कोरोनोवायरस के मामले बढ़ रहे हैं।

जनता का सहयोग जरूरी

सीएम ने कहा कि लोगों को फेस मास्क पहनना चाहिए, हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए और सामाजिक दूरी बनाए रखनी चाहिए। यदि लोग सहयोग नहीं करते हैं तो हम कड़े कदम उठाएंगे।

यह पूछे जाने पर कि क्या तकनीकी सलाहकार समिति ने तालाबंदी की सिफारिश की है, येडियूरप्पा ने सीधे जवाब से बचते हुए कहा कि लोगों को हालात को समझना और सहयोग करना होगा।

सरकार लॉकडाउन की इच्छुक नहीं

इस बीच, बेंगलूरु में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार लॉकडाउन की इच्छुक नहीं है। उन्होंने कहा कि न तो मैं और न ही मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि लॉकडाउन करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार को कड़े कदम उठाने के लिए बाध्य नहीं किया जाए। हमारी सरकार लॉकडाउन लगाने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है।

मालूम हो कि सुधाकर ने रविवार को यह कहते हुए लोगों की चिंता बढ़ा दी थी कि राज्य में कोरोना के मामले अप्रेल के अंत तक 25,000 से 30,000 के आसपास हो सकते हैं।

COVID-19 virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned