राखियों से सज गए बाजार

राखियों से सज गए बाजार

Ram Naresh Gautam | Publish: Aug, 12 2018 05:17:03 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

व्यापारी राहुल जैन ने बताया कि इस बार फैंसी राखिया आई हैं, जिन्हें खूब पसंद किया जा रहा है

मंड्या. भाई-बहन के बीच पवित्र रिश्ता की अटूट डोर बंधाने वाला रक्षाबंधन त्यौहार नजदीक आने पर दुकानें राखियों से सजने लगी है। दूर-दराज रहने वाले भाइयों को समय से राखी भेजने के लिए बहनों ने खरीदारी शुरू कर दी है। व्यापारी राहुल जैन ने बताया कि इस बार फैंसी राखिया आई हैं, जिन्हें खूब पसंद किया जा रहा है। की राखियां 20 से 70 रुपए तक में है। बच्चों को आकर्षित करते छोटा भीम, मोटू पतलू, माइफ्रेंड गणेशा, डोरेमोन जैसी राखियां भी बाजार में हंै। बड़ों के लिए फैंसी रेशमी की धागे से गुत्थी राखियों के अलावा मोर राखी, स्टोन फैंसी भाभी ननद राखी, भाई-बहन राखियां आकर्षित कर रही है।


हरियाली अमावस्या पर हुए भजन
मंड्या. अरकेरे गांव में राजस्थानी प्रवासी महिलाओं ने शनिवार को हरियाली अमावस्या के उपलक्ष में भजन कीर्तन किया। महिलाओं ने कान्हा मीठी मुरली बजाई रे नंदलाला...,आज संत्सग में थाणे आवणो पडेला..., सवरा थारा नाम हजार कैसे लिखूं थाणे....आदि भजनों पर नृत्य किया। संतोष पटेल, रेणुका पटेल, जमुडी देवी, रेखा देवी, गीता देेेेवी, मंजु देवी सहित प्रवासी महिलाओं ने भाग लिया।


मंदिर में की सफाई
मंड्या. मद्दूर के शनि महात्मा मंदिर परिसर में धर्मशाला ग्राम अभिवृद्धि योजना के तहत एक दिवसीय स्वच्छता अभियान चलाया गया। ग्रामीणों ने मंदिर परिसर में फैली गंदगी व घास की कटाई कर सफाई की। कार्यक्रम में दीपू कुमारी, शिवकुमार, सूदा आदि लोगों का सहयोग रहा।

 

अमावस्या पर पूजा
मंड्या. शहर के कालिकम्मा देवी मंदिर में शनिवार शाम भीम अमावस्या के उपलक्ष्य पर विशेष पूजा अर्चना में श्रद्धालु बड़ी संख्या में शामिल हुए। देवी को फूलों से अलंकार किया गया। मंदिर को रोशनी से सजाया गया। भक्तों को प्रसाद वितरण किया।

 

किसानों को किया जागरूक
मंड्या. केआरपेट तहसील के संतेबाहल्ली गांव में शनिवार को किसान संपर्क केन्द्र भवन में समग्र कृषि अभियान जागरूकता कार्यक्रम संपन्न हुआ। तालुक पंचायत सदस्य बी एन दिनेश ने कहा कि किसान को सीधा मंडी से जोडऩा होगा। बीसी फार्म अधिकारी किसनेगौड़ा ने कहा कि किसानों को कम बारिश होने पर बारिश के पानी का सरंक्षण करने लिए खेतों में कृत्रिम तालाब निर्माण कराना चाहिए। रमेश कुमार, नारायण गौड़ा, जयराम गौड़ा, श्रीधर सहित कई किसान मौजूद थे।

Ad Block is Banned