scriptstudents back in basic understanding of alphabets | अक्षर की बुनियादी समझ से वंचित छात्र | Patrika News

अक्षर की बुनियादी समझ से वंचित छात्र

- भाषा विषयों में पिछड़े
- ऑनलाइन शिक्षा, कोरोना महामारी बड़ा कारण
- नेशनल अचीवमेंट सर्वे ने बढ़ाई चिंता

बैंगलोर

Published: June 01, 2022 06:34:02 pm

प्रदेश के विद्यार्थी भाषा विषयों में अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। कइयों को इन विषयों में स्कोर करना मुश्किल लगा। इनका प्रदर्शन राष्ट्रीय औसत से भी कम है। नेशनल अचीवमेंट सर्वे (एनएएस) 2021 में ये बातें सामने आई हैं। हाई स्कूल में विशेष रूप से कक्षा 10 के छात्रों ने राष्ट्रीय औसत (41 प्रतिशत) की तुलना में आधुनिक भारतीय भाषा में 35 प्रतिशत हासिल किया है।

अक्षर की बुनियादी समझ से वंचित छात्र
अक्षर की बुनियादी समझ से वंचित छात्र

कर्नाटक माध्यमिक शिक्षा परीक्षा बोर्ड (केएसइइबी) के आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष प्रथम भाषा में उत्तीर्ण प्रतिशत 93.14 रहा, जबकि 2020 में यह प्रतिशत 93.32 और 2019 में 94.16 था। पहली भाषा में कन्नड़, तेलुगु, हिंदी, मराठी, तमिल, उर्दू, अंग्रेजी, अंग्रेजी (एनसीइआरटी) और संस्कृत शामिल है।

शिक्षकों का मानना है कि कोरोना महामारी के कारण ऑनलाइन शिक्षा से लेकर उपस्थिति की कमी तक, ऐसे कई महत्वपूर्ण कारक हैं जिनके कारण भाषा विषयों में छात्रों के प्रदर्शन में गिरावट आई है। शिक्षकों को लगता है कि लॉकडाउन ने छात्रों के सीखने के कौशल को बाधित कर दिया है, जिससे वे अक्षर की बुनियादी समझ से भी वंचित हो गए हैं।

अन्य विषयों की तुलना में कम
बीते दो वर्ष में आठवीं और नौवीं कक्षा में पहुंचे कई छात्रों का भाषा के बुनियादी नियमों से संपर्क टूट गया है। इस वर्ष के एसएसएलसी परीक्षा में कन्नड़ भाषा में परीक्षा देने वाले 77 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए। हालांकि, यह 2018-19 से 10 प्रतिशत की वृद्धि है। लेकिन, तुलनात्मक रूप से यह अन्य विषयों की तुलना में कम है।

इसलिए समझना मुश्किल
शिक्षकों के अनुसार स्कूल में कन्नड़ भाषा चुनने वाले छात्रों का कुल उत्तीर्ण प्रतिशत कम हो रहा है क्योंकि अधिकांश छात्र उर्दू और अन्य गैर-कन्नड़भाषी परिवारों से आते हैं, जिससे उनके लिए कन्नड़ को समझना मुश्किल हो जाता है।

वर्चुअल लर्निंग व्यावहारिक विकल्प नहीं
शिक्षकों का मानना है कि परीक्षा की तैयारी के दौरान भाषा में वर्चुअल लर्निंग व्यावहारिक विकल्प नहीं है। शिक्षक चंद्रशेखर के अनुसार गणित या विज्ञान के विपरीत, कन्नड़ में व्याकरण शामिल होती है, जिसे ऑनलाइन नहीं पढ़ाया जा सकता। उनके स्कूल में प्रथम भाषा में उत्तीर्ण प्रतिशत 2019 के 97 प्रतिशत की तुलना में घटकर इस वर्ष 57 प्रतिशत रहा।

मोबाइल की लत ने बिगाड़ा लेखन कौशल
कुंडापुरा सरकारी हाई स्कूल के प्रधानाध्यापक विनोद एम. ने बताया कि इस साल स्कूल से पास होने वाले कम-से-कम 50 प्रतिशत छात्रों के पास वर्णमाला का ज्ञान नहीं था। जिसमें से 30 फीसदी को शुरू से ही अक्षर सिखाने पड़ते थे। इसके अलावा, ऑनलाइन कक्षाओं के कारण मोबाइल की लत ने उनके लेखन कौशल को कम कर दिया है। इस साल, माता-पिता ऑनलाइन सीखने की प्रथा के खिलाफ हैं क्योंकि उन्हें डर है कि यह उनकी योग्यता कौशल को बाधित कर रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Britain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीपीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीलालू प्रसाद यादव की हालत नाजुक, तेजस्वी यादव बोले - '3 जगह फ्रैक्चर, दवा के ओवरडोज से तबीयत बेहद बिगड़ी'कानपुर हिंसा में फंसे अरबपति बिल्डर मोहम्मद वसी की बैलेंस शीट से खुलासा, 300 करोड़ की प्रापर्टी, 29 लाख का बिजनेसराकेश झुनझुनवाला की एयरलाइन Akasa Air को DGCA से मिला लाइसेंस, जानिए कब से शुरू होंगी उड़ानेंMumbai: देवनार में 2,500 किलोग्राम से अधिक गोमांस जब्त, पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ्तारKarnataka: बागलकोट जिले के केरूर में हिंसा, चार घायल, तीन गिरफ्तारBhagwant Mann Marriage Live Updates: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अरविंद केजरीवाल ने दी बधाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.