लॉकडाउन में 47 दिन तक फंसे रहने के बाद कश्मीर रवाना हुए छात्र

बेंगलूरु से 985 छात्र हुए रवाना

By: Santosh kumar Pandey

Published: 10 May 2020, 10:43 PM IST

बेंगलूरु. कर्नाटक के विभिन्न शहरों में पढ़ाई कर रहे कश्मीरी छात्र रविवार को जब अपने घर के लिए रवाना हुए तो खुशी की चमक उनके चेहरे पर साफ देखी जा सकती थी।

चिकबानावार रेलवे स्टेशन से 985 कश्मीरी छात्रों को लेकर एक स्पेशल ट्रेन मध्यान्ह 12.30 बजे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के उधमपुर के लिए रवाना हुई। उधमपुर जम्मू से 65 किलोमीटर व श्रीनगर से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

इसके पहले सभी छात्र केआर पुरम रेलवे स्टेशन पर एकत्र हुए थे जहां से उन्हें बस के जरिए रेलवे स्टेशन लाया गया। हालांकि ट्रेन को सुबह 11 बजे रवाना होना था लेकिन थर्मल स्क्रीनिंग के कारण देरी हुई और ट्रेन 90 मिनट की देरी से रवाना हुई। यात्रियों को कोरोना वायरस के लक्षणों से मुक्त होने का मेडिकल सर्टिफिकेट दिया गया।

रेलवे के अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक कोच में यात्रा के दौरान शारीरिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए केवल 54 यात्रियों को अनुमति दी गई थी। मास्क पहनना और हाथों को साफ करना अनिवार्य किया गया। यात्रियों को भोजन के पैकेट भी दिए गए।

बता दें कि गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन को दो सप्ताह तक बढ़ाने का आदेश जारी किया था और विशेष ट्रेनों द्वारा विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों की आवाजाही की अनुमति दी थी।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned