अचानक दिल्ली से वापस लौटे येड्डियूरप्पा

अचानक दिल्ली से वापस लौटे येड्डियूरप्पा

Shankar Sharma | Publish: Sep, 09 2018 09:54:10 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में भाग लेने के लिए दिल्ली गए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डियूरप्पा शनिवार सुबह अचानक बेंगलूरु लौट आए।

बेंगलूरु. पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में भाग लेने के लिए दिल्ली गए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डियूरप्पा शनिवार सुबह अचानक बेंगलूरु लौट आए। उनके बैठक में भाग लिए बिना ही लौट आने से सियासी हलकों में कई तरह की चर्चाएं होती रहीं। बताया जाता है सांसद सुरेश के ईडी संभावित कार्रवाई को लेकर लगाए गए आरोपों व कांग्रेस के कुछ असंतुष्टों के संपर्क करने के बाद येड्डि ने बेंगलूरु लौटने का फैसला किया। हालांकि, येड्डियूरप्पा ने कहा कि परिवार में आवश्यक कार्य के कारण उन्हें लौटना पड़ा व इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है। सुरेश द्वारा जारी पत्र को फर्जी बताया।

राज्य में सत्ता पाने के लिए भाजपा नेता आतुर : शिवकुमार
जल संसाधन मंत्री डी के शिवकुमार ने कहा कि भाजपा नेता सत्ता पाने के लिए आतुर हैं। शिवकुमार ने कहा कि येड्डियूरप्पा के साथ मेरे अच्छे रिश्ते है। कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार गिराने के लिए कांग्रेस के कितने विधायक भाजपा के संपर्क में हं,ै इसकी भी मेरे पास पूरी जानकारी है।


यहां शनिवार को उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से अपने खिलाफ मामला दर्ज करने की संभावना को लेकर पूछे सवाल कहा कि उनके खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय कैसे प्राथमिकी दर्ज कर सकता है। भाजपा के नेता ही इस मामले को लेकर भ्रम पैदा कर रहें है। आयकर तथा इडी जैसी संवैधानिक संस्थाएं तथा इन संस्थाओं में कार्यरत अधिकारियों का वे (शिवकुमार) सम्मान करते है लेकिन इस मामले को लेकर ईडी के किसी भी अधिकारी ने उनके साथ संपर्क नहीं किया है। अगर ईडी उनसे किसी बात का स्पष्टीकरण चाहती है तो वे इसके लिए तैयार है।


अपने भाई व सांसद डी.के.सुरेश की ओर से शनिवार को पत्रकार वार्ता में आयकर विभाग के अधिकारियों को कथित रूप से येड्डियूरप्पा के खत को भाजपा नेताओं की ओरसे फर्जी करार दिए जाने को लेकर पूछे सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पुट्टस्वामी गौड़ा नामक एक व्यक्ति को येड्डियूरप्पा की सिफारीश के बाद ही यह खत दिया था। अगर भाजपा के नेताओं का यह पत्र फर्जी होने का दावा है तो इस पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है।

Ad Block is Banned