स्वच्छ भारत अभियान: कोलार से सीख ले रहे दूसरे राज्य

Shankar Sharma

Publish: Jan, 13 2018 10:30:59 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
स्वच्छ भारत अभियान: कोलार से सीख ले रहे दूसरे राज्य

शौचालय निर्माण के मामले में कोलार जिला प्रदेश सहित पड़ोसी राज्यों के लिए भी उदाहरण बनकर उभरा है।

कोलार. शौचालय निर्माण के मामले में कोलार जिला प्रदेश सहित पड़ोसी राज्यों के लिए भी उदाहरण बनकर उभरा है। बहुत से अधिकारी यहां आकर स्वच्छता अभियान की सफलता से सीख ले रहे हैं। बीते साल २ अक्टूबर को कोलार जिले को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया था।


ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री एच.के. पाटिल ने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि जिले में स्वच्छ भारत और निर्मल भारत योजना के तहत जिले में ८५ हजार शौचालय निर्माण का लक्ष्य था, जिसके लिए ३० सितंबर २०१७ समयसीमा निर्धारित की गई थी। जबकि १८ अगस्त २०१७ को ही सभी तहसीलों और ग्राम पंचायतों के अंतर्गत शौचालय निर्माण का लक्ष्य पूरा कर लिया गया। इसमें कोलार जिला पंचायत की मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीबी कावेरी की भूमिका अधिक रही है।

कोलार जिला पंचायत को केन्द्र सरकार से ‘स्वच्छता ही सेवा’ का पुरस्कार मिला है। पुरस्कार के रूप में नकद पांच लाख रुपए और एक ट्राफी दी ग ई है। पड़ो सी राज्यों और अन्य जि लों के जन प्रतिनिधि शौचा यलों के निर्माण के बारे में विस्तृत जान कारी प्राप्त करने कोलार का दौरा कर रहे हैं।


सभी गांंवों के घरों में शौचालय की सुविधा है। उन्होंने कहा कि कोलार जिले में खुले में शौच से होने वाली समस्याएं और देश के विकास में रुकावट बनने का कारण बताने के जरिए जागृति अभियान चलाया गया। कई छात्राओं ने स्कूल जाना बन्द कर दिया था। छात्राएं पहले शौचालय निर्मित करने की शर्त पर ही स्कू ल जाने लगीं।


हैदराबाद कर्नाटक क्षेत्र के चार और मुंबई कर्नाटक के एक जिले में शौचा लयों का निर्माण धीमा है। विजयपुर, रायचूर, बीदर, यादगीर और कलबुर्गी में लक्ष्य हासिल करने की ओर तेजी से कद म बढ़ाए जा रहे हैं। इसके लिए कोलार जिला पंचायत के निर्माण विभाग के कर्मचारियों की मदद ली जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned