तमिलनाडु के फूलों की आवक रुकने से दाम उछले

तमिलनाडु के फूलों की आवक रुकने से दाम उछले
bangalore news

Shankar Sharma | Updated: 09 Oct 2016, 11:41:00 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

कावेरी विवाद से उपजे तनाव के चलते तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कारोबार लगभग ठप है। दोनों राज्यों के बीच परिवहन बंद होने से हर दिन होने वाला करीब एक हजार करोड़ रुपए का कारोबार पूरी तरह चरमरा गया है

मैसूरु. कावेरी विवाद से उपजे तनाव के चलते तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कारोबार लगभग ठप है। दोनों राज्यों के बीच परिवहन बंद होने से हर दिन होने वाला करीब एक हजार करोड़ रुपए का कारोबार पूरी तरह चरमरा गया है।

दशहरा महोत्सव के दौरान मैसूरु में फूलों की आपूर्ति तमिलनाडु से ही होती है। लेकिन इस बार फूल नहीं आने से बाजार में फूलों के दाम आसमान पर पहुंच गए हैं। ज्यादा दाम चुकाने के बावजूद मांग के अनुपात में आपूर्ति नहीं होने से आयुध पूजा के लिए होने वाली पारंपरिक सजावट भी फीकी नजर आ रही है। स्थानीय लोग पूजा के लिए फूल नहीं मिलने पर मायूस नजर आए। मैसूर शहर में रोज 10 से 15 हजार किलो फूलों की मांग रहती है लेकिन अब केवल 800 किलो फूलों की आपूर्ति हो रही है। सामान्य दिनों में तमिलनाडु से रोज करीब 3 टन फूलों की आपूर्ति होती है जो इस समय बंद है।

बागवानी विभाग के सूत्रों के अनुसार मैसूर शहर को तमिलनाडु के कोयंबत्तूर, दिंडिगुल, सत्यमंगला, बन्नारी, सेलम तथा मदुरै से फूलों की आपूर्ति होती है। कावेरी बेसिन में तनाव के चलते इस बार आपूर्ति रुक गई है। इसके अलावा जिले में बारिश नहीं होने से फूलों का उत्पादन घटा है। जिले में मैसूरु मल्लिगे फूलों का उत्पादन अधिक होता है। हर पूजा अनुष्ठान नें इसी फूल का उपयोग किया जाता है। लेकिन इस बार मैसूरु मल्लिगे की मांग के हिसाब से आपूर्ति नहीं हो रही है। पहले लोग इस फूल की कमी होने पर मदुरै मल्लिगे का उपयोग करते थे लेकिन वहां से भी आपूर्ति ठप होने के कारण यह फूल भी दुर्लभ हो गए हैं।

परिवहन नहीं होने से उपजा संकट
तमिलनाडु में फूलों का पर्याप्त उत्पादन हो रहा है लेकिन दोनों राज्यों के बीच लॉरियों की आवाजाही बंद होने से फूल तमिलनाडु के खेतों में ही सड़ रहे हैं। शहर के फूलों के कई व्यापारी खाली वाहन लेकर फूल खरीदने तमिलनाडु के सीमावर्ती क्षेत्रों तक पहुंचे लेकिन उन्हें भी खाली हाथ लौटना पड़ा है। फूलों की आपूर्ति रुकने से शहर में फूलों के दाम आसमान को छू रहे हैं। कुछ दिन पहले जास्मीन के फूल 250 रुपए किलो मिल रहे थे, अब उनके दाम 450 रुपए तक पहुंच चुके हैं। कनकांबरा फूल के मूल्य 600 रुपए प्रति किलो से बढ़कर 1000 रुपए प्रति किलो हो गए हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned