आखिरकार तनुजा ने लिखी एनइइटी

-मुख्यमंत्री और डॉ. सुधाकर के प्रति जताया आभार

By: Nikhil Kumar

Published: 16 Oct 2020, 05:39 PM IST

बेंगलूरु. राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (एनइइटी) के आयोजन के ठीक एक माह बाद एक छात्रा ने बुधवार को बसवनगुडी केंद्र में यह परीक्षा दी। मुख्यमंत्री बी. एस. येडियूरप्पा और चिकित्सा शिक्षा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के. सुधाकर के कारण यह संभव हो सका।

कोविड कंटेनमेंट जोन में घर होने के कारण शिवमोग्गा जिले के शिकारीपुर की तनुजा कर्रेगौड़ा 13 सितंबर को आयोजित मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं हो सकी थी। परीक्षा के दिन उसे बुखार भी था। परीक्षा में शामिल होने की अपील पर मुख्यमंत्री व डॉ. सुधाकर ने मदद की।

शिवमोग्गा के नवोदय विद्यालय की छात्रा रह चुकी तनुजा के पिता किसान हैं और वह चिकित्सक बनना चाहती है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार एनटीए ने फिर से परीक्षा आयोजित की। इस बार कुछ दस्तावेज ई-मेल के जरिए भेजने थे। लेकिन इस बार भी कोविड सहित कुछ तकनीकी कारणों से वह दस्तावेज नहीं भेज सकी। तनुजा ने इसके बारे में सोशल मीडिया पर लिखा। मामले की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री व डॉ. सुधाकर ने हस्तक्षेप कर अधिकारियों से अपील की कि तनुजा को परीक्षा में शामिल होने की इजाजत दी जाए।

तनुजा ने कहा कि वह सर्जन बन लोगों की सेवा करना चाहती है। इस अवसर के लिए वह मुख्यमंत्री व डॉ. सुधाकर की वह आभारी है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned