निर्धारित समय से 10 दिन पहले किया लक्ष्य पूरा : डॉ. सुधाकर

- 36 लैब ने 24 घंटे में जांचे 11,449 सैंपल

By: Nikhil Kumar

Published: 22 May 2020, 10:49 PM IST

बेंगलूरु. कर्नाटक ने हर दिन 10 हजार नमूने जांचने का लक्ष्य निर्धारित समय से 10 दिन पहले ही प्राप्त कर लिया है। कोरोना संक्रमितों की समय रहते पहचान के लिए प्रदेश सरकार ने 31 मई तक यह क्षमता हासिल करने का लक्ष्य रखा था लेकिन स्वास्थ्य व चिकित्सा शिक्षा विभाग ने गुरुवार को 10 हजार से ज्यादा जांच कर लीं।

चिकित्सा शिक्षा व कोविड-19 मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने शुक्रवार सुबह के अपने ट्वीट में इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि 31 मई तक हर दिन 10 हजार नमूने जांचने की क्षमता हासिल करने का लक्ष्य गुरुवार रात पूरा हो गया। प्रदेश की 36 सरकारी व निजी प्रयोगशालाओं ने गुरुवार को 11,449 नमूने जांचे हैं। 20 मई को 7293 नमूने ही जांचे जा सके थे। देश में कोरोना संक्रमित पहले व्यक्ति की मौत वाले कलबुर्गी जिले में एक हजार नमूनों की जांच हुई।

गुरुवार को किदवई संस्थान ने सबसे ज्यादा 1407 नमूने जांचे। 1170 नमूनों के साथ बेंगलूरु मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (बीएमसीआरआइ) दूसरे, 1142 नमूनों के साथ गुलबर्गा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (जीआइएमएस) तीसरे व 1142 नमूनों के साथ नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआइवी), बेंगलूरु चौथे स्थान पर रहा। राष्ट्रीय मानसिक आरोग्य व स्नायु विज्ञान संस्थान (निम्हांस) ने 725 नमूनों की जांच की।

पौने दो लाख से ज्यादा नमूने जांचे
प्रदेश कोविड-19 वॉर रूम की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार गुरुवार तक एक लाख 82 हजार 833 नमूनों की जांच हुई है। एनआइवी ने सबसे ज्यादा 24,660, निम्हांस ने 21,571, बीएमसीआरआइ ने 19,438 और जीआइएमएस ने 15,367 नमूने जांचे हैं।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned