जैविक कृषि को प्रोत्साहित करने के लिए कार्यबल का गठन

जैविक कृषि का क्षेत्र एक लाख हेक्टेयर तक बढ़ाने का लक्ष्य

By: Sanjay Kulkarni

Updated: 01 Aug 2020, 09:44 AM IST

बेंगलूरु. कृषि मंत्री बीसी पाटिल ने कहा कि जैविक कृषि को प्रोत्साहित करने के लिए सभी जिलों में कार्यबल गठित करने के निर्देश दिए गए हैं। कृषि आयुक्त कार्यालय में यहां शुक्रवार को जैविक कृषि उच्चाधिकार समिति की समीक्षा बैठक के पश्चात उन्होंने कहा कि इस वर्ष जैविक कृषि का क्षेत्र एक लाख हेक्टेयर तक बढ़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

वर्ष 2017 में घोषित जैविक कृषि नीति को यथावत लागू किया जा रहा है। राज्य के सभी जिलों में जैविक कृषि को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत पौष्टिक अनाज उत्पादन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इन उत्पादों के विपणन में आ रही सभी समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। ऐसे उत्पादों के ऑनलाइन विपणन के लिए विशेष योजना बनाई गई है।जैविक कृषि के प्रचार-प्रसार के लिए राज्य के सभी कृषि विश्वविद्यालयों का सहयोग लिया जा रहा है।

केपीसीसी के अध्यक्ष को योगेश्वर की चुनौती

बेंगलूरु. कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने मेरे खिलाफ झूठा बयान दिया है। इसे साबित करने के लिए शिवकुमार सबूत पेश करें। भाजपा के विधान परिषद सदस्य सीपी योगेश्वर ने यह बात कही। शिवकुमार ने हाल ही में कहा था कि योगेश्वर कांग्रेस में शामिल होने उनके पास आए थे।योगेश्वर ने कहा कि शिवकुमार के घर में चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। उन्हें इस बात का सबूत जारी करने में कोई कठिनाई नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लेकिन उनके पास शिवकुमार का विडियो है। उन्होंने कहा कि उन्हें विधान परिषद में नामित किया जाना डीके शिवकुमार को रास नहीं आ रहा है। जबकि छह माह पहले ही मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने उन्हें मंत्री बनाने का वादा किया है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned