हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र के जिलों में चरम पर पहुंंचा पारा

हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र के जिलों में चरम पर पहुंंचा पारा

Santosh Kumar Pandey | Publish: May, 03 2019 05:01:42 PM (IST) | Updated: May, 03 2019 05:01:44 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

भीषण गर्मी से तपते हैदराबाद कर्नाटक क्षेत्र में नवजात शिशुओं और बच्चों सहित बुजुर्गांे की परेशानी बढ़ गई है। लगातार चढ़ते पारे के कारण क्षेत्र के जिलों का तापमान आसमान छू रहा है और इसका सर्वाधिक खामियाजा छोटे बच्चों और बुजुर्गों को निर्जलीकरण के रूप में झेलना पड़ रहा है।

बेंगलूरु. भीषण गर्मी से तपते हैदराबाद कर्नाटक क्षेत्र में नवजात शिशुओं और बच्चों सहित बुजुर्गांे की परेशानी बढ़ गई है। लगातार चढ़ते पारे के कारण क्षेत्र के जिलों का तापमान आसमान छू रहा है और इसका सर्वाधिक खामियाजा छोटे बच्चों और बुजुर्गों को निर्जलीकरण के रूप में झेलना पड़ रहा है।

पिछले एक सप्ताह से कलबुर्गी, रायचूर, बीदर, कोप्पल, बल्लारी आदि जिलों का तापमान औसत ४१ से ४३ डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया जा रहा है। इससे पूरा हैदराबाद कर्नाटक क्षेत्र लू की चपेट में है। कथित रूप से पिछले सप्ताह एक युवा प्राध्यापक की लू लगने से मौत हो गई। रायचूर में २९ अप्रेल को एक देवदास जानप्पा हुसूर की लू लगने से मौत हो गई। वहीं रायचूर और कलबुर्गी के अस्पतालों में निर्जलीकरण की मार झेलते ६० नवजातों, बच्चों और बुजुर्गों को उपचार के लिए दाखिल कराया गया है। इसी प्रकार यादगीर जिले में भी पिछले एक सप्ताह के दौरान गर्मी की वजह से कई लोगों के बीमार होने के मामले सामने आए। गुरुवार को शाम ५.३० बजे रायचूर का तापमान ४०.८ डिग्री सेल्सिय, बल्लारी और कलबुर्गी को ४२.२ एवं ४१.१ डिग्री सेल्सिय रेकॉर्ड किया गया। न सिर्फ दिन के समय बल्कि रात में भी लोगो को गर्मी से राहत नहीं मिल रही है और उमस एवं तपन पूरी रात महसूस होता है। न्यूनतम तापमान भी करीब ३० डिग्री सेल्सिय है। पिछले सप्ताह २७ अप्रेल को कलबुर्गी का तापमान ४४.१ डिग्री सेल्सिय तक पहुंच गया था जो इस वर्ष राज्य में सर्वाधिक तापमान है। यहां तक कि पिछले सप्ताह कुछ जिलों में मामूली बारिश होने के बाद भी गर्मी से राहत नहीं मिली और उल्टे उमस बढ़ गया।

खुशनुमा हुआ बेंगलूरु का मौसम
फोनी चक्रवात का प्रभाव बेंगलूरु पर दिख रहा है और मंगलवार को हुई जोरदार बारिश के बाद पिछले दो दिनों से शहर का तापमान लुढक़ गया है। गुरुवार को मौसम में नमी घुली रही और पूरे दिन शहर की फिजां खुशनुमा बनी रही। मौसम विभाग के अनुसार सप्ताहांत तक इसी प्रकार का मौसम बने रहने की संभावना है। इसके अतिरिक्त अगले दो दिनों के दौरान मामूली बंूदाबांदी भी हो सकती है।

दक्षिण कर्नाटक पर फैला हुआ है फोनी
दक्षिण अंदरुनी कर्नाटक के जिलों और विशेषकर पुराने मैसूरु क्षेत्र को चक्रवात फोनी के कारण गर्मी से राहत मिली है और अधिकांश जिलों में बारिश हुई है। मैसूरु, मंड्या, चामराजनगर, कोडुगू आदि क्षेत्रों में न सिर्फबारिश बल्कि तेज आंधी से जूझना पड़ा है। इस सप्ताह के आरंभ से ही अमूमन हर दिन पुराने मैसूरु क्षेत्र के कई हिस्सों में बारिश हुई है। मौसम विभाग के अनुसार ओडि़शा की ओर बढ़ते फोनी चक्रवात के कारण दक्षिण कर्नाटक और तटीय कर्नाटक में बादल दिख रहे हैं और बारिश हुई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned