तप परम औषधि एवं प्रकाश प्रदीप है-साध्वी अणिमाश्री

कंठी तप अनुमोदना कार्यक्रम

By: Yogesh Sharma

Published: 30 Jan 2021, 12:33 PM IST

बेंगलूरु. गांधीनगर तेरापंथ भवन में साध्वी अणिमाश्री एवं साध्वी डॉ. मंगलप्रज्ञा के सान्निध्य में विजयनगर की सुनीता देवी पीचा के कंठी तप अनुमोदना का संघ प्रभावक कार्यक्रम हुआ। इसमें गांधीनगर के अतिरिक्त विजयनगर के श्रावक-श्राविकाओं की उपस्थिति रही।
साध्वी अणिमाश्री ने कहा तपस्या वह मंगल कलश है, जिसके जल को पीने वाला हर व्यक्ति मंगलमय बन जाता है। तपस्या वह प्रकाशदीप है, जो जिन्दगी की हर अंधेरी गली को रोशनी से भर देती है। तपस्या एक सुरम्य वाटिका है, जिसमें भ्रमण करने वाले व्यक्ति का जीवन रमणीय हो जाता है। बहन सुनीता पींचा ने कंठी तप का बेशकीमती हार पहना हुआ है। जिसके पहनने से पूरा परिसर ही नहीं अपितु पूरा विजयनगर सुशोभित हो रहा है।
इस अवसर पर साध्वी अणिमाश्री एवं साध्वी मंगलप्रज्ञा की प्रेरणा से साध्वी प्रमुखाश्री के 50वें मनोननयन दिवस पर होने वाले महान तपोयज्ञ में भाई बहनों ने नाम लिखाकर तप की लहर को आगे बढ़ाया। साध्वी डॉ. मंगलप्रज्ञा ने कहा तपस्या वह परम औषधि है जो आरोग्य वरदायी है। तथा आत्मा को उज्ज्वल, पवित्र व निर्मल बनाने वाली है। तपस्या से जब व्यक्ति का अन्तर्मन अनुप्राणित होता है। तब आत्मानंद का द्वार उद्घाटित होता है। साध्वी कर्णिकाश्री, साध्वी सुदर्शनप्रभा, साध्वी सुधाप्रभा, साध्वी समतव्यशा, साध्वी मैत्रीप्रभा, साध्वी राजुलप्रभा, साध्वी चैतन्यप्रभा, साध्वी शौर्यप्रभा ने तपस्वी की तप अनुमोदना गीत का संगान किया। संचालन विजयनगर महिला मंडल की मंत्री मधु कटारिया ने किया। विजयनगर सभाध्यक्ष राजेश चावत, महिला मंडल अध्यक्ष कुसुम डांगी, शांतिनगर से जितेंद्र घोषाल, वीणा बैद,विमल श्यामसुखा, धर्मचन्द्र सेठिया, प्रकाश गांधी, प्रियंका पींचा ने तप वर्धापना गीत की प्रस्तुति दी। विजयनगर तेरापंथी सभा, महिला मंडल व तेयुप की तरफ से अभिनंदन पत्र भेंट किया। अभिनंदन पत्र का वाचन सभा के मंत्री मंगल कोचर ने किया।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned