भाजपा ने टिकट न दी तो रो पड़े 'नेताजी'

भाजपा ने टिकट न दी तो रो पड़े 'नेताजी'

Ram Naresh Gautam | Publish: Apr, 17 2018 05:08:15 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

सूची जारी होने के बाद भाजपा में असंतोष भड़का

बेंगलूरु. विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने सोमवार को अपने 82 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। सूची जारी होने के बाद पार्टी के अंदर असंतोष की आग और भड़क गई है। कई स्थानों से दावेदारों के समर्थकों द्वारा प्रदर्शन के समाचार हैं। पूर्व मंत्री रेवु नायक बेलमगी, पूर्व विधान परिषद सदस्य शशील नमोशी को टिकट नहीं मिलने पर पार्टी की कलबुर्गी इकाई के कार्यकर्ताओं को घोर निराशा है।

टिकट नहीं मिलने से दुखी होकर सुशील नमोशी बागलकोट में प्रेस वार्ता के दौरान टीवी कैमरों के सामने ही रो पड़े और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के प्रति असंतोष जाहिर किया। कलबुर्गी जिले से टिकट नहीं मिलने के कारण पूर्व मंत्री रेवुनायक बेलमगी के समर्थकों ने भी आक्रोश प्रकट किया है। तुमकूरु शहर सीट से पूर्व मंत्री सोगडु शिवण्णा के बजाय ज्योति गणेश को टिकट देने की बात शिवण्णा समर्थक पचा नहीं पा रहे हैं और उन्होंने इस पर कड़ा आक्रोश जताया है। कोडुगू जिले में विराजपेट से टिकट के दावेदार पूर्व विधानसभा अध्यक्ष केजी बोपय्या तथा मैसूरु की कृष्णराजा सीट से टिकट के दावेदार पूर्व मंत्री एसए रामदास का टिकट नहीं मिलने के कारण उनके समर्थकों में भारी रोष हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येड्डियूरप्पा ने कहा कि उन्होंने टिकट नहीं मिलने से दुखी नेताओं के साथ पहले ही बातचीत शुरू कर दी है और उनको जल्द ही समझा लिया जाएगा। चुनाव के समय सूचियां जारी होने पर इस तरह स्थिति उत्पन्न होना आम बात है पर हम इससे जल्द ही निपट लेंगे।

-------------

नागरत्नम्मा थीं पहली महिला विस अध्यक्ष
चामराजनगर जिले के गुंडलूपेट से सात बार विधानसभा के लिए चुनी गई के एस नागरत्नम्मा राज्य की पहली विधानसभा अध्यक्ष थीं। वे 1972 से 1978 विधानसभा अध्यक्ष रही थीं। वे दूसरी से पांचवीं और सातवीं से नौवीं विधानसभा तक इस क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर जीतीं। सिर्फ 1978 में वे निर्दलीय उम्मीदवार एच के शिवरुद्रप्पा से हारी थीं।

Ad Block is Banned