लॉकडाउन का असर राजस्व संग्रह पर

सीएम येडियूरप्पा ने कहा कि लॉकडाउन से राज्य की वित्तीय स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 09 Apr 2020, 05:55 PM IST

बेंगलूरु. सीएम येडियूरप्पा ने कहा कि लॉकडाउन से राज्य की वित्तीय स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। कुछ महत्वपूर्ण खर्चों के अलावा सरकार बजट प्रस्तावों को लागू करने की स्थिति में नहीं है।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण हर तरह का राजस्व संग्रह बंद हो गया है। येडियूरप्पा ने कहा कि वे मंत्रिमंडलीय सहयोगियों व विशेषज्ञों के साथ लॉकडाउन से पड़े आर्थिक असर से बाहर निकलने के उपायों पर चर्चा कर रहे हैं।

अगले ५-६ महीने तक कटौती और खर्चों पर अंकुश अपरिहार्य है। केंद्र हो या राज्य, दोनों स्तरों पर धन की कमी है। येडियूरप्पा ने १४ अप्रेल के बाद शराब बिक्री की छूट देने का भी संकेत दिया। लॉकडाउन बढऩे पर सीमित अवधि के लिए शराब बिक्री की अनुमति देने की चर्चा हो रही है।

येडियूरप्पा ने कहा कि सरकार शराब बिक्री की छूट देने के पक्ष में है ताकि राजस्व संग्रह बढ़ सके। येडियूरप्पा ने कहा कि बेंगलूरु में लॉकडाउन के कारण सड़कें वीरान हैं लिहाजा सरकार सड़क निर्माण से जुड़े कार्यों को कराने पर विचार कर रही है।

इसके लिए एक-दो दिनों में आदेश जारी हो सकते हैं। कर्मचारियों के वेतन कटौती प्रस्ताव के बारे में येडियूरप्पा ने कहा कि उन्होंने अभी इसके बारे में नहीं सोचा है, मंत्रिमंडल में होने वाली चर्चा पर फैसला निर्भर करेगा। इस महीने हमने पूरा वेतन दिया है और आगे हालात पर निर्भर करेगा।

Corona virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned