मोदी ने जलाई जो ज्योति, वो 2000 किमी दूर बेंगलूरु पहुंची

यह ज्योति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली स्थित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में 16 दिसम्बर 2019 को जलाई थी...और

By: Ram Naresh Gautam

Published: 21 Feb 2021, 12:47 AM IST

बेंगलूरु. सन् 1971 की लड़ाई में पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत का प्रतीक विजय मशाल (विजय ज्योति) शनिवार को बेंगलूरु पहुंचा। इस विजय ज्योति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली स्थित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में 16 दिसम्बर 2019 को जलाई थी।

सन 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में जलाई गई यह विजय ज्योति देश के कोने-कोने तक पहुंच रही है। शहरों और गांवों को जोड़ रही है साथ ही युद्ध के नायकों को सम्मानित किया जा रहा है। लगभग 2000 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर शनिवार सुबह यह विजय ज्योति बेंगलूरु पहुंची।

मद्रास इंजीनियर गु्रप (एमइजी) एवं सेंटर के बहादुर सिपाहियों ने यहां विजय ज्योति का भव्य स्वागत किया।
एमइजी गू्रप एवं सेंटर के शहीद स्मारक पर कर्नाटक एवं केरल उपक्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल जे. वी. प्रसाद ने इस विजय ज्योति को थामा।

इसके बाद सेना के वरिष्ठ अधिकारियों एवं पूर्व सैनिकों ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यह विजय ज्योति 5 मार्च 2021 तक बेंगलूरु में रहेगी।

इसके बाद 6 मार्च को कोयम्बत्तूर के लिए रवाना हो जाएगी। इस दौरान इसे सभी युद्ध नायकों के निवास स्थान पर ले जाया जाएगा। यह उन वीरों का सम्मान है जिन्होंने देश के लिए बड़ी कुर्बानियां दीं।

PM Narendra Modi
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned