scriptनायक को न्यायप्रिय व नीतिमान होना चाहिए: आचार्य विमलसागर | Patrika News
बैंगलोर

नायक को न्यायप्रिय व नीतिमान होना चाहिए: आचार्य विमलसागर

श्रीरंगपट्टण में प्रवचन

बैंगलोरJun 23, 2024 / 05:59 pm

Santosh kumar Pandey

vimalsagar
मैसूरु. कल्याण मित्र वर्षावास समिति, मैसूरु के तत्वावधान में घोषित चातुर्मास के लिए पदयात्रा कर रहे आचार्य विमलसागर सूरीश्वर और गणिपद्मविमल सागर आदि ठाणा रविवार को श्रीरंगपट्टण पहुंचे। श्रीरंगपट्टण सकल जैन समाज की ओर से आचार्य आदि ठाणा का स्वागत किया।
आचार्य ने प्रवचन में कहा कि नायक चाहे राष्ट्र के हों अथवा समाज या धर्म के, वे न्यायप्रिय और नीतिमान होने चाहिए। ऐसे पदाधिकारी समाज का हितचिंतन करते हुए अमर हो जाते हैं। जो अन्याय, अनीति, मनमानी या अपनी स्वार्थवृत्तियों में उलझे रहते हैं, वे नायक और पदाधिकारी समाज को सौभाग्यशाली तो नहीं बना पाते, खुद के पुण्य- प्रताप भी नष्ट कर देते हैं।
प्रवचन सभा में जैन चेरिटेबल ट्रस्ट तथा कल्याण मित्र वर्षावास समिति, मैसूरु के कांतिलाल चौहान, मूलचंद पालरेचा, अशोक दांतेवाड़िया, भंवरलाल जैन, वसंत राठौड़, प्रवीण दांतेवाड़िया, भंवरलाल लुंकड़, मांगीलाल पोरवाल, कांतिलाल भंडारी, जीतो मैसूरु चैप्टर के मुख्य सचिव गौतम सालेचा, जैन मिलन पैलेस सिटी के नितिन बोहरा, विमल शाह, आदिनाथ जैन संघ के रमेश श्रीश्रीमाल, भोजराज पोरवाल, मदन पालरेचा सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।
जैन चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष कांतिलाल जैन ने बताया कि सोमवार को प्रातः आचार्य विमलसागर सूरीश्वर आदि ठाणा सिद्धलिंगपुरा स्थित महावीर जिनालय पहुंचेंगे। संतों के सान्निध्य में महावीर जिनालय के प्रांगण में प्रातः 9 बजे आचार्य बुद्धिसागरसूरीश्वर की 99वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में गुरु गौरव समारोह का आयोजन किया जाएगा।

Hindi News/ Bangalore / नायक को न्यायप्रिय व नीतिमान होना चाहिए: आचार्य विमलसागर

ट्रेंडिंग वीडियो