scriptThe mere mention of mother shows concern for the daughter: Chourdia | मां का जिक्र ही बेटी की फिक्र को जताता है: चौरडि़या | Patrika News

मां का जिक्र ही बेटी की फिक्र को जताता है: चौरडि़या

locationबैंगलोरPublished: Dec 28, 2023 08:47:13 pm

  • तेरापंथ महिला मंडल, आरआर नगर की कार्यशाला

rr_nagarr.jpg
बेंगलूरु. तेरापंथ महिला मंडल, आर.आर नगर की ओर से रिलेशनशिप स्किल्स के अंतर्गत मां का दिशाबोध बेटी की उड़ान कार्यशाला का आयोजन किया गया। स्वागत अध्यक्ष सुमन पटावरी ने किया । प्रवक्ता कंचन छाजेड ने कहा कि बेटियां चाहे किसी भी मुकाम पर पहुंच जाएं कितनी भी उपलब्धियां प्राप्त कर लें, पर जब भी अपने घर आएं तो बहू, बेटी आदि की भूमिका को अवश्य निभाएं। अपने परिजनों के साथ मधुर संबंध बनाए रखें। मुख्य वक्ता के रूप में पूजा चौरडिया ने बेटी से मां तक के सफर एवं इस रिश्ते को संपूर्ण, प्यार भरा एवं सारी भावनाओं से जुड़ा रिश्ता बताया। उन्होंने कहा कि मां का जिक्र ही बेटी की फिक्र को जताता है। कार्यशाला संयोजिका वंदना भंसाली एवं सहसंयोजका पूनम दक ने रोचक खेलों के जरिए रिश्तों की सामंजस्यता परखी। प्रथम स्थान पर रजनी-आर्या संचेती, द्वितीय स्थान पर अमिता-स्नेहा छाजेड़ एवं तृतीय स्थान पर आशा- प्राची चोरडिया रहीं। कार्यशाला में 15 मां -बेटी की जोड़ी ने हिस्सा लिया। कुल 80 लोगों की उपस्थिति रही। सभी भाग लेने वाली मां -बेटी की जोड़ी एवं विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। मुख्य वक्ता का परिचय सीमा दक ने दिया। आभार ज्ञापन मंत्री पदमा मेहर ने किया । संचालन पूनम दक ने किया।

ट्रेंडिंग वीडियो