मंत्री ने मजदूरों को समझाया, कहा करेंगे वापस भेजने की व्यवस्था

पैलेस मैदान में जमा हुए 1500 से अधिक श्रमिक

By: Santosh kumar Pandey

Published: 23 May 2020, 04:53 PM IST

बेंगलूरु. चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के सुधाकर ने शनिवार को पैलेस मैदान पहुंचकर वहां गृह राज्यों में लौटने के लिए बेताब मजदूरों को समझाइश दी। मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार प्रवासी श्रमिकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। गृह राज्यों में उनके लौटने की व्यवस्था की जाएगी और यात्रा का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

पैलेस मैदान में बड़ी संख्या में ओडिशा और उत्तर-पूर्वी राज्यों के प्रवासी श्रमिक अपने गृह राज्यों में वापस जाने के लिए एकत्र हुए थे। चिकबल्लापुर जाने के लिए रवाना हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर ने वहां भारी भीड़ देखा तो वे मौके पर पहुंचे और स्थिति को शांत किया।

मंत्री ने पूर्वोत्तर राज्यों और ओडिशा के लोगों के साथ बातचीत की और कहा कि घबराने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि सरकारी खर्च पर सभी प्रवासियों के लिए यात्रा की व्यवस्था की जाएगी। रेल मंत्री से अतिरिक्त डिब्बे उपलब्ध कराने की अपील की जाएगी। मंत्री ने उनसे सामाजिक दूरी बनाए रखने और बड़ी संख्या में एकत्र न होने का आग्रह किया।

मणिपुर और ओडिशा के हजारों लोग

बता दें कि मणिपुर और ओडिशा के हजारों लोग गलत सूचना के कारण एकत्र हुए थे। 1500 लोग अपने-अपने राज्यों में वापस लौटने के लिए खुद को पंजीकृत करने के लिए एकत्र हुए थे। सेवा सिंधु ऐप के माध्यम से एक संदेश सभी पंजीकृतों को भेजा गया लेकिन लोगों ने दूसरों को भी संदेश भेजना शुरू कर दिया।

भारी भीड़ देखकर मौके पर पहुंचे
चिक्कबल्लापुर जाते समय मंत्री ने पैलेस ग्राउंड के पास भारी भीड़ को देखा और मौके पर पहुंचे। उन्होंने तुरंत मुख्य सचिव और वरिष्ठ अधिकारियों से बात की और गलतफहमी दूर करने के निर्देश दिए। मंत्री, जो एक डॉक्टर भी हैं, ने एक व्यक्ति को मिर्गी का दौरा पडऩे पर सहायता भी की। उन्होंने उन्हें प्रशासन के साथ सहयोग करने का आग्रह किया और कहा कि कर्नाटक सरकार उन्हें सुरक्षित वापस भेजने के लिए सब कुछ कर रही है।

COVID-19 virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned