गणेश चतुर्थी पर भी रहेगा कोरोना का साया, घर में ही सजेगी विघ्न विनाशक की प्रतिमा

सार्वजनिक पंडाल या प्रतिमा विसर्जन की अनुमति नहीं

By: Santosh kumar Pandey

Published: 02 Aug 2020, 10:48 PM IST

बेंगलूरु. राज्य में मनाए जाने वाले त्यौहारों पर भी कोरोना वायरस के संक्रमण का असर दिखाई दे रहा है। रक्षाबंधन पर जहां राखियों की दुकानें नहीं सज पाईं और त्यौहार के उमंग व उल्लास पर असर पड़ा, वहीं इस बार गणेश चतुर्थी का आयोजन भी घर पर ही होगा और गली-मोहल्लों में विघ्न विनाशक के पंडाल नहीं सजेंगे।

बीबीएमपी आयुक्त मंजुनाथ ने कहा कि इस वर्ष शहर में सार्वजनिक गणेश उत्सव के आयोजन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा इस वर्ष न तो गणेश के विशाल पंडालों की अनुमति होगी और न ही जुलूस निकालने और प्रतिमा विसर्जन की अनुमति होगी।

उन्होंने कहा कि शहर के तालाबों या झीलों में प्रतिमा विसर्जन की अनुमति नहीं होगी। लोग अपने घर पर प्रतिमा सजाएं और घर पर ही विसर्जन करें।

बता दें कि 22 अगस्त को मनाया जानेवाला गणेश चतुर्थी त्यौहार राज्य के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों के कारण सरकार लोगंों के जमावड़े पर रोक लगा रही है। इस वजह से इस वर्ष गणेश चतुर्थी सार्वजनिक उत्सव नहीं, बल्कि पारिवारिक उत्सव बनकर रह जाएगा।

Corona virus
Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned