लोभ का कभी अंत नहीं- आचार्य चन्द्रयश सूरीश्वर

धर्मसभा का आयोजन

By: Yogesh Sharma

Published: 14 Jun 2021, 09:33 PM IST

बेंगलूरु. सिद्धाचल धाम में विराजित आचार्य चंद्रयश सूरीश्वर ने कहा कहा कितनी उम्र तक पैसा कमाना है और कितना कमाना है। कुछ तय किया है। संपत्ति के पीछे यह दौड़ यूं ही चलती रहेगी, या कुछ अंत है। लोभ ऐसा है जिसका कभी अंत ही नहीं है। इसे जितना भी मिलेगा कम ही पड़ेेगा। तलहटी जिसकी रोज गहरी होती है और शिखर जिसका दिन ब दिन बड़ा होता है वैसे पर्वत का नाम है लोभ। हम अगर ऐसा सोचते हैं कि पैसा होगा तो मुझे सुख की प्राप्ति होगी। वह हमारी गलत मान्यता है। सुख हो या दु:ख हमारी मान्यता पर हमें मिलता है। दु:ख में भी अगर मन शांत हो तो हम सुखी है और सुख में भी अगर मन अशांत है तो हम दुखी ही रहेंगे। सुख दु:ख हमारी सोच पर है। समाधान में ही सुख है और समाधी है। अत: जागृत हो जाओ पैसों के पीछे ज्यादा मत भागो संसार चले उतना है तो बाकि का समय आत्मा के पीछे निकालो। वर्तमान का समय हम देख ही रहे हैं ना पैसा काम आता है न परिवार परिस्थिति तो इतनी विकट है की कोई कांधा देने वाला भी नहीं होता। इतना विचित्र स्वरूप संसार का देखने के बाद भी क्यों हमे वैराग्य नहीं होता। जागो अंतर दृष्टि खोलो संसार का स्वरूप समझ में आ जाएगा।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned