प्रत्येक जिले में हो एक जन औषधि स्टोर

  • उन्होंने पीएमबीजेपी को गरीब, किसान और व्यवसाय हितैषी बताया

By: Nikhil Kumar

Published: 11 Oct 2021, 07:50 PM IST

- औषधि केंद्र लोगों की सेवा करने के लिए एक व्यावसायिक अवसर

बेंगलूरु. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (The Union Health Minister Mansukh Mandaviya) ने रविवार को बसवनगुडी में प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम को संबोधित किया। सभी को सस्ती कीमत पर गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाएं (Generic Medicine) उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधान मंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) शुरू की गई थी।

इस योजना के तहत जनऔषधि केंद्रों के नाम से जाने जाने वाले समर्पित आउटलेट जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए खोले गए हैं। योजना का उद्देश्य देश के प्रत्येक जिले में कम-से-कम एक जन औषधि स्टोर स्थापित करना है।

उन्होंने कहा कि औषधि केंद्र लोगों की सेवा करने के लिए एक व्यावसायिक अवसर भी है। सरकार इसे निवेशकों के लिए एक व्यवहार्य व्यावसायिक अवसर बनाने के लिए 20 प्रतिशत के कमीशन के अलावा तीन लाख रुपए की सहायता प्रदान करती है। उन्होंने पीएमबीजेपी को गरीब, किसान और व्यवसाय हितैषी बताया।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned