scriptThis confluence of sports is wonderful : PM | प्रधानमंत्री ने कहा : खेल का यह संगम अद्भुत | Patrika News

प्रधानमंत्री ने कहा : खेल का यह संगम अद्भुत

  • उन्होंने कहा कि बेंगलूरु शहर (Bengaluru City) अपने आप में देश के युवा जोश की पहचान है। डिजिटल इंडिया (Digital India) वाले बेंगलूरु में खेलो इंडिया (Khelo India University Games) का आयोजन अपने आम में अहम है

बैंगलोर

Updated: April 25, 2022 11:25:00 am

बेंगलूरु. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Vice President Venkaiah Naidu) ने रविवार को कंठीरवा स्टेडियम में बहुप्रतीक्षित खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (Khelo India University Games) का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने समारोह को ऑनलाइन संबोधित किया और सभी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि बेंगलूरु शहर (Bengaluru City) अपने आप में देश के युवा जोश की पहचान है। डिजिटल इंडिया (Digital India) वाले बेंगलूरु में खेलो इंडिया (Khelo India University Games) का आयोजन अपने आम में अहम है। स्टार्ट-अप्स की दुनिया में खेल का यह संगम अद्भुत है। देश के नौजवान भी यहां से एक नई ऊर्जा लेकर लौटेंगे। कोरोना महामारी (corona Pandamic) की तमाम चुनौतियों के बीच ये खेल युवाओं के दृढ़ संकल्प और जज्बे का उदहारण है। वे इस हौसले को सलाम करते हैं। युवा हौसला देश को हर क्षेत्र में नई गति से आगे ले जा रहा है। खेल टीम भावना सीखाता है जो जीवन की सफलता के लिए जरूरी है।

प्रधानमंत्री ने कहा : खेल का यह संगम अद्भुत

खेल में जीत का मतलब होता है समग्र दृष्टिकोण, सौ फीसदी समर्पण व हर दिशा में प्रयास। खेल और जीवन, दोनों में जज्बे का, जोश का और जुनून का बहुत महत्व होता है। दोनों में चुनौतियों को गले लगाने वाला ही विजेता होता है। दोनों में हार भी जीत होती है और हार भी सीख होती है। दोनों में ईमानदारी सबसे आगे लेकर जाती है। दोनों में पल-पल का महत्व हैं। जीत को पचाने का हुनर और हार से सीखने की कला जीवन की प्रगति के सबसे मूल्यवान अंग होते हैं।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि खेल को जीवन का हिस्सा बनाने की जरूरत है। मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए व्यायाम और अपनी पसंद का खेल जरूरी है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भी खेलों को महत्ता दी गई है। राज्य सरकारों को इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है। उन्हें लगता है कि केंद्र और राज्य खिलाडिय़ों को नंबर भी देकर पुरस्कृत और सम्मानित करें ताकि दाखिले, पदोन्नति में इसका लाभ मिल सके। इससे खिलाड़ी प्रोत्साहित होंगे।

उन्होंने कहा कि खेलो इंडिया में होने वाले 20 खेलों में मलखंब और योगासन जैसे देशी खेलों का भी आयोजन होगा। ग्रामीण वे देशी खेलों को बचाए रखने की जरूरत है। इन्हें सर्वोच्च प्राथमिकता देने की जरूरत है। स्वस्थ प्रतियोगिता समय की मांग है। युवा वर्ग विभिन्न खेलों से जुड़ेंगे तो देश तेजी से विकास करेगा।

उन्होंने कहा कि बेहतर भविष्य के लिए संस्कृति और प्रकृति को बचाना होगा। जलवायु परिवर्तन वास्तविकता है। हमें पिज्जा और बर्गर नहीं बल्कि स्वदेशी स्वस्थ भोजन की जरूरत है। पश्चिमी देशों का अनुसरण नहीं करना चाहिए। देश के 'वेस्ट' को छोडकऱ 'वेस्ट' की ओर नहीं देखें। भारतीय भोजन करें और हर मौके के लिए स्वस्थ रहें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.